Breaking News
  • 21 जून को देश समेत दुनिया के अन्य देशों में अनंतराष्ट्रीय योग दिवस
  • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर देहरादून में पीएम मोदी ने करीब 55 हजार लोगों के साथ किया योग
  • अलग-अलग जगहों पर लगे योग शिविर में शामिल हुए नेता और मंत्री
  • कोटा में दो लाख लोगों को 90 मिनट योग सिखाकर बाबा रामदेव ने बनाया नया वर्ल्ड रिकॉर्ड

CM बनने के चक्कर में योगी ने खो दिया अपना गोरखपुर किला- अखिलेश ने मारी बाजी तो BJP को चौतरफा झटका...

नई दिल्ली: साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश की दो और बिहार की एक लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में केंद्र और राज्य की सत्ताधारी बीजेपी को बड़ा झटका लगा है, जबकि बीजेपी के खिलाफ एकजुट हुई विरोधी पार्टियों के लिए सालों बाद ही सही लेकिन बड़ी खुशखबरी हाथ लगी है।

दरअसल, उत्तर प्रदेश के गोरखपुर लोकसभा क्षेत्र से सांसद रहे योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री बनने के लिए तो फूलपुर से सांसद केशव प्रसाद मैर्य डिप्सी सीएम बनने के लिए अपनी जीती हुई सीटें छोड़ दिया था। वहीं बिहार की अररिया लोकसभा सीट से आरजेडी सासंद के निधन के बाद खाली हुई थी, इन सभी सीटों के साथ बिहार की दो विधानसभा सीटों पर भी 11 मार्च को उपचान के तहत वोटिंग हुई थी।

Inside Story: 2 पत्नी के इकलौते पति थे स्टीफन हॉकिंग- इनकी ये बात कर सकती हैं हैरान...

चुनाव से पहले बीजेपी इन सभी सीटों पर जीत के दावे कर रही थी, लेकिन बुधवार को वोटो की गिनती हो रही है, हालंकि अभी परिणाम पूरी तरह से साफ नहीं हुआ है, लेकिन इन सभी सीटों पर बीजेपी की हार तय हो चुकी है। यानी बीजेपी के हाथ से 2014 में जीती गई गोखपुर और फूलपुर सीट समाजवादी पार्टी के खाते में जा रही है।

आपको बता दें कि गोरखपुर और फूलपुर में बीजेपी कि हार साफ तौर पर सीएम योगी आदित्यनाथ की हार है, क्योंकि अगर बीजेपी की जीत होती तो इसका श्रेय योगी के नाम ही जुड़ता। साल 2019 के फाइनल टेस्ट से पहले उपचुनाव योगी के लिए बड़ी परीक्षा थी, जिसमें वो फेल हो रहे हैं।

फूलपुर लोकसभा उपचुनाव: SP-BSP गठजोड़ ने बीजेपी को पछाड़ा

गौर हो कि गोरखपुर सीट बीजेपी और योगी आदित्यनाथ का गढ़ या किला माना जाता है, यूपी के मौजूदा सीएम योगी गोरखपुर सीट से पांच बार सांसद चुने जा चुके हैं, जबकि इससे पहले इस सीट से तीन बार योगी के गुरु महन्त अवैद्यनाथ सांसद रहे थे। लेकिन अब बीजेपी के हाथ यह सीट जा रही है, लिहाजा अब यहां एक नया इतिहास लिखा जा रहा है।

बता दें कि यूपी उपचुनाव में अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी मायावती की बसपा के साथ गठबंध किया था और चुनाव परिणाम इस ओर इशारा कर रही हैं कि सपा-बसपा यानी माय-अखिलेश का गठछोड़ मोदी-योगी को मात दे रहा है।

उपचुनाव: यूपी-बिहार में लोकसभा की सभी सीटों पर BJP हार...

बता दें कि बीजेपी ने फूलपुर से कौशलेंद्र सिंह पटेल और गोरखपुर से उपेंद्र दत्त शुक्ला को मैदान में उतारा है। वहीं सपा ने प्रवीण निषाद को गोरखपुर से और नागेंद्र सिंह पटेल को फूलपुर से अपना उम्मीदवार बनाया है। जबकि कांग्रेस पार्टी ने सुरीथा करीम को गोरखपुर से और मनीष मिश्रा को फूलपुर से प्रत्याशी बनाया है। बीजेपी के सभी उम्मीदवार सपा के मुकाबले काफी पिछे चल रहे हैं।

loading...