Breaking News
  • राजकीय सम्मान के साथ मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार
  • प्रयागराज से वाराणसी तक बोट यात्रा कर रही हैं प्रियंका गांधी
  • बोट यात्रा से पहले प्रियंका ने किया गंगा पूजन, देश का उत्थान और शांति मांगी
  • आतंकवाद के खिलाफ़ कार्रवाई में सुरक्षाबलों के हाथ बड़ी सफलता, 36 घंटों के अंदर 8 आतंकी ढेर
  • पाकिस्तान ने राष्ट्रीय दिवस पर अलगाववादी नेताओं को किया आमंत्रित, भारत ने जताया सख्त ऐतराज
  • शहीद दिवस पर आजादी के अमर सेनानी वीर भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को नमन कर रहा है देश
  • आज IPL के 12वें सीजन का आरंभ, एम एस धोनी और विराट कोहली आमने-सामने

अखिलेश यादव ने ठुकरा दी पिता मुलायम की यह मांग, हारे हुए नेता पर खेल गए दांव

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने एक बार फिर से अपने पिता और पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव की बात खारिज कर दी है। हालांकि अखिलेश यादव के लिए यह पहला मौका नहीं है जब उन्होंने अपने पिता और समाजवादी पार्टी की नींव रखने वाले ‘नेता जी’ को दरकिनार करते हुए कोई फैसला किया है।

गौतलब है कि इससे पहले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव के बीच का लफड़ा काफी चर्चा में था। ये वहीं दौर था जब अखिलेश यादव ने अपने पिता मुलायम सिंह यादव से जबरन पार्टी अध्यक्ष का पद छीन लिया था और खुद समाजवादी पार्टी प्रमुख बन गए थे। इसके बाद से अखिलेश यादव ही समाजवादी पार्टी के सर्वेसर्वा हैं, और ये सिर्फ कहने की बात नहीं बल्कि अखिलेश यादव ने करके भी दिखाया है।

सहवाग ने क्यों ठुकराया भाजपा का यह बड़ा ऑफर, गंभीर मान गए!

दरअसल, आगामी लोकसभा चुनाव की जारी चर्चाओं के बीत मुलायम सिंह यादव ने अपनी दूसरी पत्नी के बेटे की पत्नी अपर्णा यादव को संभल से लोकसभा टिकट दिए जाने की मांग की थी, लेकिन अखिलेश यादव ने मुलाय की बात खारिज करते हुए संभल सीट से शफीकुर रहमान बर्क पर दांव खेला है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अखिलेश यादव मुलायम के पहली पत्नी के पुत्र हैं।

आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए चार और उम्मीदवारों की घोषणा की है। इससे पहले पार्टी 11 उम्मीदवारों के नामों का एलान कर चुकी है। यानि अब तक समाजवादी पार्टी ने कुल 15 उम्मीदवारों के नामों का एलान किया है। आज जिन चार नए प्रत्याशियों की घोषणा की गई है उनमें गोंडा से विनोद कुमार उर्फ पंडित सिंह, बाराबंकी से राम सागर रावत, संभल से शफीकुर रहमान बर्क और कैराना से तबस्सुम हसन को टिकट मिला है।

बिहर के इस सीट से चुनाव लड़ने की तैयारी में कन्हैया, क्य लालू की पार्टी करेगी समर्थन…

बता दें कि मुलायम ने संभल सीट से अपर्णा यादव के इसलिए मांग था, क्योंकि यह सीट समाजवादी पार्टी और खास कर मुलायम परिवार के लिए सुरक्षित मानी जाती है। यहं से खुद मुलायम दो बार सांसद चुने जा चुके हैं, जबकि रामगोपाल यादव भी एक बार सांसद रह चुके हैं।

पिछली बार लोकसभा चुनाव के दौरान समाजवादी पार्टी ने इस सीट से शफीकुर रहमान बर्क को टिकट दिया था, तब उन्हें बीजेपी उम्मीदवार के खिलाफ पांच हजार वोटों के अंतर से हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इसके बाद भी पार्टी ने एक बार फिर से हारे हुए उम्मीदवार पर ही दांव लगाया है।

न्यूजीलैंड: मस्जिद में कत्लेआम का आतंकियों ने किया LIVE टेलीकास्ट

loading...