Breaking News
  • आज होगा योगी सरकार के कैबिनेट का विस्तार, नए चेहरों को मिल सकती है जगह
  • G7 शिखर सम्मेलन में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने की पीएम मोदी से कश्मीर मुद्दे पर वार्ता की पेशकश
  • MP के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का निधन, राज्य में तीन दिवसीय शोक की घोषणा की
  • INX मीडिया मामले में चिदंबरम पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार, कुछ देर में SC में सुनवाई

अखिलेश यादव बोले- गंगा मइया की कसम..., कुंभ में डूबकी के बाद ‘केंद्र से मांगा किला’, दिग्गज महंत ने दे दिया ‘पूरा का पूरा’ आशीर्वाद!

प्रयाग राज: यहां उत्तर प्रदेश में जारी विश्व प्रसिद्ध कुंभ मेले में रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी पहुंचे। न सिर्फ पहुंचे बल्कि दुनिया के सबसे विशाल मानव समागम में संगम की डूबकी लगाकर सारे ‘पाप’ भी धो लिया लिए! उन्होंने 27 जनवरी को सोशन मीडिया पर अपनी कुछ कुंभ मेले में जाने की तस्वीरें पोस्ट की, जिनमें वह संगम में डूबकी लगाने और साथ संतों के साथ सभा करते दिख रहे हैं।

ट्वीटर पर अपनी चार तस्वीर पोस्ट करते हुए समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने लिखा, “आज अर्द्ध कुंभ में संगम पर पावन स्नान व ‘लेटे हुए हनुमान जी’ के दर्शन का पुण्य लाभ एवं सौभाग्य।” इसके बाद उन्होंने राष्ट्रीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी जी महाराज से उनके आश्रम जाकर मुलाकात की। इस दौरान अखिलेश यादव ने कहा कि, जब सम्राट हर्षवर्धन यहां आते थे तो सब कुछ दान करके चले जाते थे। सरकार ने अब तक कुछ दान नहीं किया है।

उन्होंने कहा, हम चाहेंगे कि केंद्र सरकार यहां के किले को प्रदेश सरकार को दे दे, दान कर दे। उन्होंने कहा, सरकार अगली कैबिनेट बैठक कुम्भ मेले में करने जा रही है, इस कैबिनेट में प्रस्ताव पारित कर केंद्र के पास भेज दे, कुंभ खत्म होते-होते कम से कम किला तो दिलवा दें। आपको बता दें कि यहां अखिलेश यादव जिस किले की बात करे रहे हैं, उसे अकबर ने बनवाया था। यहां हाल ही में केंद्र सरकार की पहल पर अक्षयवट और सरस्वती कूप को आम लोगों के लिए भी खोल दिया गया है। जहां फिलहाल सेना रहती है।

लेकिन अखिलेश का मानना है कि हमारे पास चंबल यमुना के काफी जगह है, फौज को जितना चाहे उतना दे दें। वहीं प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए अखिलेश ने कहा, संगम और अर्द्धकुंभ, नाम बदल जाए, रंग बदल जाए और कुंभ के किनारे कैबिनेट हो जाए, अगर किसान-नौजवानों खुशहाल नहीं रहता तब से सब बातें अधूरी रह जाती हैं। वहीं उन्होंने समाजवादी पार्टी पर लगे जातिगत राजनीति के आरोप पर जवाब देते हुए कहा कि, मैं गंगा मइया की कसम खाकर भरोसा दिलाता हूं कि हम सत्ता में आए तो जातियों के आंकड़े सार्वजनिक करूंगा।

उन्होंने कहा कि, हम चाहते हैं कि सभी जातियों की गणना की जाए। वहीं जब नरेंद्र गिरि से अखिलेश यादव के लिए साल 2019 चुनावों में आशीर्वाद के बारे में पूछा गया तब उन्होंने झोली खोल कर ‘पूरा का पूरा’ आशीर्वाद दे दिया। उन्होंने कह, पूरा पूरा आशीर्वाद है।

मोदी को हटाकर खुद पीएम बनना चाहते हैं नितिन गडकरी!

Very funny: ये सालियां भी कमाल की होती हैं, जीजा को दिया ऐसा गिफ्ट

loading...