Breaking News
  • अयोध्या मामले में 2 अगस्त से खुली कोर्ट में सुनवाई, 31 जुलाई तक मध्यस्थता की प्रक्रिया
  • महाराष्ट्र में गोरखपुर अंत्योदय एक्सप्रेस पटरी से उतरी
  • अमरनाथ यात्रा पर आतंकी कर सकते हैं आतंकी हमला : सूत्र
  • कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार का शक्ति परीक्षण, 2 बसों में विधानसभा पहुंचे BJP विधायक

क्या मोदी के मेगा रंग में भंग करना चाहते थे अजय राय, पुलिस ने दिखाई पावर!

वाराणसी: क्या कांग्रेस प्रत्‍याशी अजय राय वारणसी में मोदी के मेगा शो को भंग करना चाहते थे? ऐसे सवाल इसलिए उठ रहे हैं, क्योकि लोकसभा चुनाव 2019 के लिए शुक्रवार को नामांकम दाखिल करने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को वाराणसी में भव्य रोड शो किया है। जिस दौरान मोदी रोड शो कर रहे थे, इसी दौरान कांग्रेस प्रत्‍याशी अजय राय भी अपने कार्यकर्ताओं के साथ जबरन जुलूस लेकर गोदौलिया की ओर बढ़ रहे थे।

वहीं पीएम के प्रस्तावित रोड शो को लेकर पहले से अलर्ट पुलिसकर्मियों ने अजय राय को रोकने की कोशिश की। जिसके कारण काफी देर तक कार्यकर्ताओं के बीच टकराव की नौबत बनी रही। एक तरफ मोदी का मेगा शो और दूसरी तरफ टकराव की खबरों ने पुलिस-प्रशासन के भी हाथ पांव फूला दिए। हालांकि प्रशासन ने किसी भी अप्रिय घटना से पहले हालात संभाल ली।

आपको बता दें कि अजय राय  वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कांग्रेस के उम्मीदवार हैं। हालांकि पहले खबर थी कि कांग्रेस पार्टी वाराणसी से मोदी के खिलाफ प्रियंका गांधी को उतार सकती है, लेकिन सियासी हवा का रूख समझते हुए कांग्रेस पार्टी ने ऐसा न करते हुए उसी अजय राय को चुनावी मैदान में उतारने का फैसाल किया है, जिन्हें साल 2014 के चुमनाव में मोदी के खिलाफ मुंह की खानी पड़ी थी।

2014 लोकसभा चुनाव में वाराणसी से मोदी ने 5,81,022 वोटों से ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी। जबकि मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे अजय राय तीसरे नंबर पर रहे थे, जिन्हें 75,614 वोट मिले थे। वहीं, दूसरे स्थान पर रहे दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल को 2,09,238 वोट मिले थे। जबकि साल 2019 में एक साथ चुनाव लड़ रही सपा-बसाप की जमानत जब्त हो गई थी।

loading...