Breaking News
  • अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पियो आज करेंगे पीएम मोदी और एस. जयशंकर से मुलाकात
  • WC 2019 : इंग्लैंड को 64 रनों से हराकर सेमीफाइनल में पहुंचा ऑस्ट्रलिया
  • WC 2019 : बर्मिंघम के मैदान पर आज भिड़ेंगे न्यूजीलैंड और पाक
  • राज्यसभा में 26 जून को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर जवाब देंगे पीएम मोदी
  • केंद्रीय गृहमंत्री शाह 26 जून को जाएंगे श्रीनगर, कल करेंगे बाबा बर्फानी के दर्शन

अधिकारी ने कहा ‘चोर’ तो कर्मचारी ने दे दी जान, यूपी में हड़कंप

महोबा: एक ओर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पिछले काफी समय से प्रधानमंत्री की गरिमा ताक पर रखते हुए ‘चौकीदार चोर है’ का नारा लगा रहे हैं। हालंकि इसके बाद भी नरेंद्र मोदी राफेल डील पर राहुल से बहस करने को राजी नही दिख रहे है, वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के महोबा जिले की कुलपहाड़ तहसील के एसडीएम द्वारा कथित तौर पर 'चोर' कहे जाने से नाराज एक अर्दली ने शनिवार को उनके ही दफ्तर में फांसी लगाकर जान दे दी।

पुलिस अधिकारी के अनुसार, 60 साल के अर्दली इलाही बक्श का शव शनिवार को उनके चेम्बर की छत में लगे पंखे से लटका मिला। मृतक के जेब से मिले सुसाइड नोट में एसडीएम द्वारा चोर कहे जाने की ग्लानि से आत्महत्या किये जाने का जिक्र किया गया है। पुलिस के अनुसार मृत्क के परिजनों ने एसडीएम पर हत्या का आरोप लगाते हुए कुछ लोगों के साथ मिलकर हंगामा किया। हालांकि बाद में निष्पक्ष जांच के आश्वासन पर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा सका।

जानकारी के अमनुसार, पोस्टमोर्टम में भी 'हैंगिंग' से मौत होने की पुष्टि हुई है। साथ ही पुलिस मृत्क के जेब से बरामद किए गए सुसाइड नोट की हैंडराइटिंग की भी जांच कर रही है। इस बीच उपजिलाधिकारी देवेन्द्र सिंह ने बताया कि बुजुर्ग होने की वजह से इलाही की जगह अन्य अर्दली की तैनाती का आदेश उनके द्वारा नजारत विभाग को दिया गया था। उन्होंने कहा कि  चोर कहे जाने का आरोप गलत है।

loading...