Breaking News
  • लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भाजपा ने जारी किए 7 और उम्मीदवारों के नाम, दिल्ली से चार
  • श्रीलंका: आतंकियों ने चर्च सहित 8 जगहों को बनाया निशाना, कई विदेशी नागरिक भी मारे गए
  • श्रीलंका: सिलसिलेवार धमाकों में मरने वालों की संख्या 290, 400 ज्यादा लोग घायल
  • कोलकाता में बोले अमित शाह- बीजेपी की रैलियों को ममता सरकार इजाजत नहीं दे रही है

निर्भय मिसाइल का सफल परिक्षण से उड़े भारत के दुश्मनों के होश, जानिए इसकी खासियत

भुवनेश्वर: यहां उड़ीसा के तट पर पर सोमवा को भारत ने निर्भय सब-सोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया है। यह मिसाइल 1000 किलोमीटर तक तक निशाना साधाने में सक्षम है। इस मेड इन इंडिया मिसाइल को डिफेंस रिसर्च एंड डेवल्पमेंट ऑर्गेनाइजेशन यानी DRDO ने तैयार किया है।

इस मिसाइल का छठी बार परीक्षण किया गया है। इससे पहले पहली बार मिसाइल का परीक्षण 12 मार्च 2013 को किया गया था। जिसके बाद अक्टूबर 2014 में दूसरी बार, अक्टूबर 2016 में तीसरी बार, दिसंबर 2016 में चौथी बार, नवंबर 2017 में पांचवी बार और अब अप्रैल 2019 में छठी बार परिक्षण किया गया है।

छठी बार परिक्षण के बाद अब जल्द ही इसे भारतीय सेना में शामिल किया जा सकता है। क्षमता के मामले में अमेरिकी टॉमहॉक मिसाइल के बराबर निर्भय मिसाइल 300 किलोग्राम तक के परमाणु वारहेड को अपने साथ ले जाने में सक्षम है। जो अपने सटीक निशाने के लिए खास तौर पर मशहूर है।

आपको बता दें कि पड़ोसी देश चीन और पाकिस्तान से बढ़ते खतरे को देखते हुए भारत ने एक लंबी दूरी की सब सोनिक क्रूज मिसाइल बनाने की योजना तैयार की थी, लेकिन मिसाइल टेक्नोलॉजी कंट्रोल रिजीम यानी MTCR की वजह इस रेंज से ज्यादा की मिसाइल को विकसित करने के लिए भारत को किसी अन्य देश से सहयोग नहीं मिला, जिसके बाद डीआरडीओ ने अकेले ही इसे विकसित करने का फैसला किया था।

loading...