Breaking News
  • कोलकाता में ममता की महारैली में जुटा मोदी विरोधी मोर्चा, केजरीवाल, अखिलेश समेत 20 दिग्गज नेता
  • रूसी तट के पास गैस से भरे 2 पोत में आग लगने से 11 की मौत, 15 भारतीय भी थे सवार
  • जम्मू-कश्मीर: भारी बर्फबारी के बीच सुरक्षाबलों का ऑपरेशन ऑल आउट, 24 घंटे में 5 आतंकी ढेर
  • वाराणसी: 15वे प्रवासी सम्मेलन में पीएम मोदी, लोग पहले कहते थे कि भारत बदल नहीं सकता. हमने इस सोच को ही बदल डाला
  • नेपाल ने लगाया 2000, 500 और 200 रुपए के भारतीय नोटों पर बैन

आरबीआई के इस नये निर्देश के बाद बदल जाएगा कार्ड पेमेंट का तरीका

नई दिल्ली: देश में इन दिनों डीजिटल इंडिया की हवा चल रही है। डीजिटल इंडिया से जुड़ते हुए लोग अपने आप को पूरी तरह ऑनलाइन करने की दिशा में बढ़ रहे हैं। वहीं दूसरी तरह से ऑनलाइन सेवाओं में धोखाधड़ी के मामले डीजिटल इंडिया की राह में रोड़ा अटकाते दिख रहे है। जिससे निपटने के लिए हर संभन उपायों की तलाश की जा रही है।

इस क्रम में हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक ने कुछ ऐसे निर्देश जारी किए है, जो कार्ड पेमेंट सेवा को आसान बनाने के साथ-साथ सुरक्षित लेनदेन के लिए भी काफी महत्वपूर्ण बताया जाता है। रिजर्व बैंक के अनुसार, कार्ड कंपनियां थर्ड पार्टी सेवा प्रदाताओं को टोकेनाइजेशन ऑफर कर सकते हैं और कस्टमर्स इस सेवा का इस्तेमाल थर्ड पार्टी एप्लीकेशन के जरिए रजिस्ट्रेशन करके कर सकते हैं।

आरबीआई के मुताबिक, कंज्यूमर अपने कार्ड के ओरिजनल नंबर की जगह वर्चुअल नंबर क्रिएट कर सकते हैं। जिसकी मदद से कंज्यूमर को हर ट्रांजेक्शनके लिए अपनी वास्तविक डीटेल नहीं देनी होगी। ऐसा करना ग्राहकों के लिए कार्ड से पेमेंट करने के तरीकों को आसान बनाने के साथ-साथ सुरक्षित भी माना जा रहा है। वहीं जानकारों का मानना है कि यह तरीका डिजिटल पेमेंट सेवा के लिए नए रास्ते बनाने में उपयोगी कदम साबित हेंगे।

loading...