Breaking News
  • राजकीय सम्मान के साथ मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार
  • प्रयागराज से वाराणसी तक बोट यात्रा कर रही हैं प्रियंका गांधी
  • बोट यात्रा से पहले प्रियंका ने किया गंगा पूजन, देश का उत्थान और शांति मांगी
  • आतंकवाद के खिलाफ़ कार्रवाई में सुरक्षाबलों के हाथ बड़ी सफलता, 36 घंटों के अंदर 8 आतंकी ढेर
  • पाकिस्तान ने राष्ट्रीय दिवस पर अलगाववादी नेताओं को किया आमंत्रित, भारत ने जताया सख्त ऐतराज
  • शहीद दिवस पर आजादी के अमर सेनानी वीर भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को नमन कर रहा है देश
  • आज IPL के 12वें सीजन का आरंभ, एम एस धोनी और विराट कोहली आमने-सामने

फोन चोरी हो गया या खो गया तो टेंशन नहीं, यहां जानिए समस्या का सामाधान!

नई दिल्ली: जब आप का स्मार्टफोन खो जाता है या चोरी हो जाता है, तब नुकसान तो हर हाल में उठाना ही पड़ता है। हालांकि जब आप 10-15 हजार का फोन इस्तेमांल करते हैं तो आपका मलाल थोड़े समय बाद खत्म होजा है। जबकि हकीकत ऐसा नहीं है।

दरअसल, फोन चोरी होने या खोने की स्थिति में आपके फोन में स्टोर आपकी निजी जानकारियां भी दांव पर लगीं रहती है। जो कई बार आपकी जिंदगी तबाह करने के लिए काफी हो सकता है। इसलिए मामला सिर्फ फोन खोने का नहीं बल्कि आपकी निजी जानकारियां से जुड़ा है।

लॉन्चिंग से पहले ही लीक हो गई Vivo की धाड़क फोन X27, जानिए ऐसा क्या है…

हालांकि आज तकनीक के जमाने में कई ऐसी प्लेटफॉर्म या सुविधाएं भी हैं, जिसकी मदद से आप फोन चोरी या खोने के बाद भी फोन में स्टोर अपना डाटा नष्ट कर सकते हैं। साथ ही फोन का भी पता लगा सकते हैं। आप अपने फोन में कुछ सेटिंग करके ऐसा कर सकते हैं।

अगर आप एंड्राइड यूजर हैं तो बता दें कि आप बिल्ट-इन ट्रैकिंग फीचर की मदद से अपने डिवाइस की लोकेशन का पता लगा सकते हैं। इसके लिए आप google.com/android/devicemanager पर जाएं।

यहां आप से गूगल अकाउंट में लॉग-इन करने को कहा जाएगा।  जिसे आप अपने उसी आईडी से लॉग-इन करे जो खोये हुए फोन में लॉग-इन किया था। ऐसा करने के बाद गूगल मैप के जरिये आप अपने फोन का पता लगा सकते हैं।

भारत में एक और स्मार्टफोन कंपनी की दस्तक, लॉन्च किए ये बेहतरीन फोन

हालांकि इसके लिए एक शर्त है कि आपको अपने फोन में लोकेशन ऑन किया होना चाहिए। जिसके बाद आप इस फीचर की मदद से अपने डिवाइस पर रिंग भी कर सकते हैं। यहां एक ऐसा बटन भी मिलता है, जिसकी मदद से आप अपने डेटा को डिलीट कर सकते हैं, अपने फोन को लॉक भी कर सकते हैं।

अगर आप इस फीचर का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं तो आप एवीजी, अवास्ट, कैस्पर्सकी या लुकआउट के एंटीवायरस ऐप यूज कर सकते हैं। जो रिमोट ट्रैकिंग की सुविधा प्रदान करते हैं।

हालांकि यहां सिर्फ एंड्राइड यूजर के ही जानकारी दी गई है, जबकि असल में आईफोन व अन्य प्लेटफॉर्म पर काम करने वाले फोन के लिए भी ऐसे फीचर्स उपल्बध हैं। जिसके बारे में अगली रिपोर्ट में जानकारी देंगे!

Android फोनों में बंद हुई ये सुविधा, अब नहीं ले सकेंगे इसका मजा

loading...