Breaking News
  • लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भाजपा ने जारी किए 7 और उम्मीदवारों के नाम, दिल्ली से चार
  • श्रीलंका: आतंकियों ने चर्च सहित 8 जगहों को बनाया निशाना, कई विदेशी नागरिक भी मारे गए
  • श्रीलंका: सिलसिलेवार धमाकों में मरने वालों की संख्या 290, 400 ज्यादा लोग घायल
  • कोलकाता में बोले अमित शाह- बीजेपी की रैलियों को ममता सरकार इजाजत नहीं दे रही है

ISRO ने आज फिर रचा इतिहास, पृथ्‍वी की तीन कक्षाओं में...

नई दिल्ली: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान क्रेंद (ISRO) ने सोमवार सुबह पहली बार पृथ्‍वी की तीन कक्षाओं में उपग्रह स्‍थापित कर इतिहास रच दिया। इस सफल अभियान के तहत इसरो ने आज सुबह करीब 9:27 बजे पीएसएलवी C-45 के जरिए EMISAT यानी इलेक्ट्रॉनिक इंटेलिजेंस सैटलाइट लांच किया है, जो डीआरडीओ को डिफेंस रिसर्च में मदद करेगा।

आपको बता दें कि इसरो करीब तीन घंटे के कार्यक्रम के तहत आज कुल 28 सैटलाइट्स लांच कर रहा है। जिसमे सबसे प्रमुख EMISAT है। जबकि अन्य 24 अमेरिकी उपग्रहों के साथ एक-एक लिथुआनिया, स्पेन, स्विट्जरलैंड के सैटलाइट शामिल हैं। यह इसरो का 47वां पीएसएलवी प्रोग्राम है, जबकि ऐसा पहली बार हुआ है जब इसके जरिए इलेक्ट्रॉनिक इंटेलिजेंस सैटलाइट लॉन्च किया गया है।

पहले रॉकेट ने 749 किलोमीटर की कक्षा में EMISAT को स्थापित किया। इसके बाद 504 किलोमीटर ऑर्बिट पर  अन्य सैटलाइट्स को लॉन्च किया गया। इसरो का यह पहला ऐसा मिशन है, जिसे आम लोगों की मौजूदगी में लॉन्च किया गया। इसके लिए इसरो ने एक गैलरी तैयार की जिसमें 5000 लोग बैठ सकेंगे। इस गैलरी से दो लॉन्चपैड दिखाई देंगे।

आपको बता दें कि पहले इस मिशन को 12 मार्च को ही अंजाम दिया जाना था,  लेकिन खराब मौसम के चलते इसे एक अप्रैल तक के लिए टाल दिया गया था। बता दें कि इस मिशन में इसरो और डीआरडीओ ने संयुक्त तौर पर काम किया है।

loading...