Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

सरकार सख्त- ऐसा हुआ तो फेसबुक, व्हाट्सएप और टेलीग्राम जैसे ऐप ब्लॉक

नई दिल्ली: इन देश और दुनिया में खबरों से अधिक चर्चा में फेक खबरे रहती है। आय दिन ऐसे फेक खबरों को कुछ लोग पोस्ट करते है जिसे  काफी संख्या में लोग लाइक और शेयर करते हैं, ऐसे में जबकि इस तरह के मामले भयंक कांड को अंजाम देने में बड़ी अहम भूमिका निभाती है। इन्हीं बातों को लेकर पिछले काफी दिनों से इंस्टेंट मैसेजिंग साइट व्हाट्सएप की काफी आलोचना हो रही है।

वहीं सरकार ने भी देश में व्हाट्सएप के जरिये प्रसारित कुछ अफवाहों के कारण भीड़ द्वारा हत्या किए जाने के मामले पर नाराजगी जताते हुए कंपनी को नोटिस भेजे थे। सरकार ने साफ शब्दों में चेतावनी दी थी कि यदि फर्जी खबरों और अफवाहों के प्रसार को रोकने के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाये गये तो मामले में संबंधित कंपनियों को भी जिम्मेदार माना जाएगा

ऐसे हेलमेट बेचने और खरीद वाले सभी जाएंगे जेल!

इसके साथ ही सरकार ने व्हाट्सएप से फर्जी खबरें फैलाने वाले लोगों की पचहान उजागारस करने की भी बात की थी, लेकिन कंपनी ने अपने यूजर्स की पहचान उजागर करने से इनकार कर दिया। सरकार से फटकार मिलने के बाद कंपनी फर्जी खबरों के प्रयार को रोकने के लिए कुछ कदम उठाए हैं, लेकिन सरकार का मानना है कि ये कदम नाकाफी है। वहीं सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा होने पर फेसबुक, व्हाट्सएप और टेलीग्राम जैसे एप को ब्लॉक किए जाने से संबंध में भी राय देने को कहा है।

इन सभी मामलों की गंभीरता को समझते हुए फर्जी मैसेज और वीडियोज के प्रसार को रोकने के लिहाज से कंपनी अब एक नया अभियान शुरू करने जा रही है। इस नए अभियान के तहत कंपनी फेसबुक और अन्य माध्यमों से लोगों के लिए वीडियो संदेश जारी करेगी जिसेमें किसी संदेश को बिना जांच-पड़ताल के शेयर न करने क जैसी जानकारियां दी जाएगी।

भारत के शेर- एक ने लिए 10 विकेट, दूसरे ने बनाए 220 तो तीसरे ने ठोका 136

व्हाट्सएप की ओर से जारी किए गए बयान के अनुसार, कंपनी हिंदी और अंग्रेजी भाषा में वीडियो संदेस जारी करेगी। कंपनी अपने संदेश में ‘फॉरवर्ड’ निशान का महत्व यूजर्स को समजाएगी कि किसी भी संदेश को शेयर करने से पहले उसकी सच्चाई जरूर जाने, अगर संबंधित संदेश गलत है तो इसे शेयर न करे।


इन्हें सुनिए!

loading...