Breaking News
  • अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पियो आज करेंगे पीएम मोदी और एस. जयशंकर से मुलाकात
  • WC 2019 : इंग्लैंड को 64 रनों से हराकर सेमीफाइनल में पहुंचा ऑस्ट्रलिया
  • WC 2019 : बर्मिंघम के मैदान पर आज भिड़ेंगे न्यूजीलैंड और पाक
  • राज्यसभा में 26 जून को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर जवाब देंगे पीएम मोदी
  • केंद्रीय गृहमंत्री शाह 26 जून को जाएंगे श्रीनगर, कल करेंगे बाबा बर्फानी के दर्शन

फेसबुक पर फैल रहा है ज़हर, इस्लामोफोबिया से...

नई दिल्ली : फेसबुक पर फैल रहा है ज़हर, जिसका कारोबार कोई और नहीं फेसबुक कर रहा है। वो भी अपने इस्लामोफोबिया के जरिए। अब आप यह सोच रहें होंगे कि आखिर यह कौन सी बीमारी है जिसने फेसबुक को जकड़ लिया है। आपको बता दें कि यह बीमारी कोई और नहीं ‘हेट न्यूज’ से संबंधित है। जिसका सर्वे साउथ-अमेरिकन ह्यूमन राइट्स और टेक्नोलॉजी रिसर्च ऑर्गनाइजेशन ने मिलकर किया है। जिसने फेसबुक पर पड़ने वाले पिछले चार महिनें के कंटेंट का सर्वेक्षण किया है।

रिपोर्ट के अनुसार फेसबुक इंडिया पर पोस्ट किए गए खबरों में 16 प्रतिशत खबरें फेक न्यूज होती है। जबकि 13 प्रतिशत पोस्ट हेट स्पीच से भरे होते हैं। फेसबुक पर कई ऐसे पोस्ट भी डाले जाते हैं जो मानवता के खिलाफ होता हैं।

कैसे हुआ शोध

बता दें कि शोध संगठन पिछले 4 महीने से छह भारतीय भाषाओं के पोस्ट पर नजर रखे हुए था। जिसमें हिंसा की वकालत करने वाले पोस्ट, किसी को धमकाने, अपत्तिजनक शब्दों और गालियों का प्रयोग किया गया है। जिस आधार पर रिपोर्ट तैयार की गई है, जिसमें फेसबुक की ओर से जारी गाइडलाइन का भी ख्याल रखा गया है। आपको बता दें कि हेट स्पीच और एक-दूसरे को नीचा दिखाने वाले लगभग 93 प्रतिशत कंटेंट फेसबुक से नहीं हटाए गए हैं। ऐसे पोस्ट अभी भी फेसबुक के टाइमलाइन पर दिखते हैं। जिसके लिए फेसबुक की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया गया है।

इस बाबत जब फेसबुक के प्रवक्ता से पूछा गया तो उन्होंने कहा, ''हम किसी भी अभद्र भाषा को गंभीरता से लेते हैं। हमारे पास अभद्र भाषा के खिलाफ नियम है। जैसे ही हमें अभद्र भाषा के बारे में जानकारी मिलती है। हम उसे तुरंत हटा देते हैं।''

loading...