Breaking News
  • आज शाम 6 बजे तक खत्म हो सकता है कर्नाटक का नाटक, कुमारस्वामी करेंगे फ्लोर टेस्ट
  • बिहार के दरभंगा में अभी भी बाढ़ से राहत नहीं, लोगों ने सड़क पर ठिकाना
  • आज होगा ब्रिटेन के अगले प्रधानमंत्री का चयन
  • बीजेपी संसदीय दल की बैठक के बाद, पीएम मोदी कर सकते हैं सांसदों को संबोधित

2 मिनट में जानिए, LTE और VoLTE में क्या अंतर है

नई दिल्ली: हाल के दिनों में आज बाजार जितने भी नए स्मार्टफोन आ रहे हैं, लगभग सभी फोन के साथ 4G VoLTE या 4G LTE का नाम सुनने को मिलता, लेकिन आप में से कई सारे लोग ऐसे होंगे जिन्हें इसका मतलब नहीं पता होगा और ना ही आप इसके काम करने के तौर-तरीके जानते होंगे।

ऐसे में आज यहां आपो उन सभी सवालों का जवाब मिल सकता है जो 4G VoLTE या 4G LTE को लेकर आपके मन में खटकते रहे हैं। इससे पहले आपको बता दे कि अगर कम शब्दों में समझे तो 4G VoLTE या 4G LTE दोने नेटवर्क है, जिसके आधार परस आपका फोन आपको इंटरनेट की दुनिया से जोड़ता है।

EMMY AWARDS 2018: में छाया 'गेम ऑफ थ्रोन्स' का नशा, मिले इतने अवार्ड

दरअसल, LTE का को 'लॉन्ग टर्म इवोल्यूशन' कहते हैं। देश में पहली बार साल 2012 में टेलीकॉम कंपनी एयरटेल ने इस सेवा की शुरूआत की है। आम भाषा में LTE को 4G के नाम से भी जाना जाता है। जो आपके फोन में तेज इंटरनेट चलाने में मदद करता है। इस नेटवर्क के साथ आप हाई स्पीड बैंडविथ का इंटरनेट चलाते हैं।

लिज़ हर्ले ने अमेजन कंपनी को दिया 2000 पाउंड का झटका, पढ़े पूरी खबर

लेकिन LTE में कमी यह है कि अगर आप इसे अपने स्मार्टफोन में इस्तेमाल कर रहे हैं और आपके नंबर पर फोन आता है तो इंटरनेट कनेक्टिविटी बंद हो जाती है। इसे दूर करने के लिए हाल ही में VoLTE तकनीक का भी आ चुका है। भारत में VoLTE सर्विस देने वाली पहली टेलिकॉम कंपनी रिलायंस जियो है।

12 साल की उम्र में सुसाइड करने की कोशिश कर चूका है ये मशहूर रैपर, खुद …

VoLTE का फुल फॉर्म 'वॉयस ओवर लॉन्ग टर्म इवोल्यूशन' है। यह 4G नेटवर्क को सपॉर्ट करता है। यानी आप LTE की तरह यहां भी हाई स्पीड इंटरनेट का मजा लेते हैं। इस नेटवर्क की एक बड़ी खासियत है कि आप फोन से बात करते हुए भी इंटरनेट का आनंद ले सकते हैं।

loading...