Breaking News
  • छत्तीसगढ विधानसभा चुनाव के दूसरे और आखिरी चरण के लिए मतदान
  • CBI विवाद: SC में सीवीसी की रिपोर्ट और निदेशक वर्मा के जवाब की सुनवाई 29 नवंबर तक टाली
  • महाराष्ट्र: पुलगांव में सेना के हथियार डिपो में धमाका, 4 की मौत
  • जम्मू-कश्मीर: शोपियां में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, 4 आतंकी ढेर, एक जवान शहीद, दो घायल

देश भर में बंद हो सकते हैं 50 हजार मोबाइल कनेक्शन, सरकार ने कहा...

नई दिल्ली : मीडिया में कुछ दिनों पहले ही ये खबर आई थी कि देश भर में 50 करोड़ से ज्यादा मोबाइल फोन बंद हो सकते है। जिसकी वज़ह KYC को बताया गया था। ऐसा कहा जा रहा था कि इन 50 करोड़ से ज्यादा मोबाइल कनेक्शन्स की KYC दोबारा करनी पड़ सकती है। जिन 50 करोड़ से ज्यादा मोबाइल कनेक्शन पर बंद होने का खतरा मंडरा रहा है, उन्हें आधार वेरिफिकेशन पर एक्टिवेट किया गया है और उनमें कोई नया आइडेंटिफिकेशन नहीं दिया गया है।

सावधान : अब OTP प्राप्त करने के लिए ये राह अपना रहें हैं अपराधी, जानिए क्या है वह तरीका

मोबाइल कंपनियों के ऑफिसर्स से मिलीं टेलीकॉम सेक्रेटरी

अधिकारियों ने संकेत दिया है कि नए सिरे से KYC कराने के लिए सरकार पर्याप्त समय देगी. टेलीकॉम सेक्रेटरी अरुणा सुंदराराजन ने बुधवार को मोबाइल कंपनियों के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की. इस मीटिंग में इस मुद्दे का हल निकालने और विकल्पों पर चर्चा की गई।

नहीं चल रहा हैं आपका यूट्यूब वीडियो, जानिए क्या है कारण

निर्देश का इंतजार कर रहीं मोबाइल कंपनियां

टेलीकॉम डिपार्टमेंट इस मुद्दे को लेकर यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया के साथ भी विचार-विमर्श कर रहा है। मोबाइल कंपनियों का कहना है कि वे इस मुद्दे पर टेलीकॉम डिपार्टमेंट के निर्देश का इंतजार कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि टेलीकॉम डिपार्टमेंट इस मामले में जल्द ही कंपनियों को नया आदेश दे सकता है।

Nokia ने लॉन्च किया केले आकार का 4G फोन, कीमत सबसे...

वहीं डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशन और यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने उस ख़बर को पूरी तरह से नकार दिया है जिसमें कहा गया था कि 50 करोड़ से ज्यादा मोबाइल कनेक्शन बंद हो सकते हैं। दूरसंचार विभाग और UIDAI ने ज्वॉइंट स्टेटमेंट जारी कर इन खबरों का खंडन किया है।

3 साल की गारंटीड सिक्युरिटी के साथ नोकिया ने लांच किया अपना नया मोबाइल फोन, फीचर भी ऐसे की...

loading...