Breaking News
  • सोनभद्र जमीन मामले में अब तक 26 आरोपी गिरफ्तार, प्रियंका करेंगी मुलाकात
  • वेस्टइंडीज दौरे के लिए रविवार को 11:30 बजे होगा टीम इंडिया का चयन
  • बिहार : बाढ़ से अब तक 83 लोगों की मौत
  • कर्नाटक में आज दोपहर डेढ़ बजे तक सरकार को साबित करना होगा बहुमत

क्या कैरेबियाई आंधी को रोक पाएंगे मेजबान?

नोएडा : ICC  विश्व कप के 19वे मैच में शुक्रवार को मेजबान इंग्लैंड का सामना सबसे अप्रत्याशित टीम वेस्टइंडीज से हो रहा है, ये मुकाबला साउथहैम्पटन के रोज बाउल मैदान में भारतीय समयानुसार 3 बजे से खेला जायेगा जिसका सीधा प्रसारण स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क पर होगा। इस मैच में वेस्ट इंडीज अपनी दूसरी जीत दर्ज़ करने के इरादे से उतरेगी तो वहीं इंग्लैंड अपनी तीसरी जीत का स्वाद चखना चाहेगी। बता दें कि इंग्लैंड अपने दो मैच जीत कर अंकतालिका में चौथे स्थान पर है जबकि वेस्टइंडीज एक हार और एक जीत के साथ छठे स्थान पर है। टीमों के हालिया प्रदर्शन को देखते हुए इंग्लैंड का पलड़ा वेस्टइंडीज से भारी लग रहा है लेकिन वेस्टइंडीज की टीम कभी भी किसी भी परिस्थिति में मैच को पलटने का दम रखती है।

अगर हम दोनों टीमों के हेड टू हेड प्रदर्शन की बात करें तो यहां भी इंग्लैंड का ही पलड़ा भरी है, दोनों ही टीमों के  बीच अब तक 101 मुकाबले खेले गए है जिसमें से इंग्लैंड का सक्सेस रेट ज्यादा है। इंग्लैंड ने जहां 51 मैचों में जीत दर्ज़ की है, वहीं वेस्टइंडीज को 44 मैचों में जीत मिली है, जबकि 6 मैच बेनतीजा रहे है। अगर विश्व कप की बात की जाये तो दोनों ही टीम 6 बार आमने सामने रही है, जिसमे इंग्लैंड को लगातार पांच बार जीत हांसिल हुई है और वेस्ट इंडीज सिर्फ एक ही मैच जीत पाया है। वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड के खिलाफ अपना आखिरी मुकाबला 1975 के विश्व कप में जीता था। जिसके बाद उसे इंग्लैंड के खिलाफ 40 साल से कोई जीत नहीं मिली है। जिसे शायद वेस्टइंडीज तोड़ना चाहेगा।

मौसम और पिच की बात करें तो साउथहैम्पटन में भी आज बारिश मैच में व्यवधान डाल सकता है। यहाँ तापमान 15 से 17 डिग्री के बीच रहने के आसार है, आसमान में बादल छाये रहेंगे और तेज़ हवा चलने की उम्मीद है, जिससे तेज़ गेंदबाज़ो को मदद मिलने के आसार है। इस पिच पर पहले गेंदबाज़ी करना फ़ायदेमंद साबित होगा।

कैसा रहेगा प्रदर्शन

वेस्ट इंडीज के प्रदर्शन की बात करें तो उसके विस्फोटक बल्लेबाज़ी द यूनिवर्स महाराज के नाम से मशहूर क्रिस गेल, आंद्रे रसेल, शै होप, हेटमेयर जैसे विस्फोटक बल्लेबाज़ किसी भी पल मैच का रुख मोड़ने में सक्षम है, लेकिन वेस्टइंडीज के सामने जो सबसे बड़ी चुनौती है वो है उनकी ओपनिंग जोड़ी का निरंतर फेल होना। मध्यक्रम में भी अभी तक आंद्रे रसेल कुछ खास नहीं कर पाये। अगर हम गेंदबाज़ की बात करें तो एक मैच को छोड़ दें तो उसके अलावा सभी मैचों में बॉलर काफी महंगे साबित हुए।

इंग्लैंड की ताकत की बात करें तो दोनो ही ओपनर्स के असाधारण फॉर्म, जिसमें जो रुट का जबरदस्त फार्म में होना और बेन स्टोक्स का हरफन मौला प्रदर्शन, इसके साथ ही बटलर का तेज़ी से रन बनाना ,ये सब इंग्लैंड की टीम को काफी मजबूती प्रदान करता है अगर कमजोरी की बात की जाये तो वो उनका गेंदबाजी क्रम है जिसमें अनुभव की काफई कमी है। अभी तक किसी भी बॉलर ने टीम के लिए 100 से ज्यादा मैच नहीं खेले है। आपको बता दें कि इंग्लैंड के बल्लेबाज़ों ने जितनी बार बड़ा स्कोर खड़ा किया है उतनी ही बार इंग्लैंड के बॉलर्स ने ज्यादा रन खर्च किये है। कैरेबियाई तूफ़ान से बचने के लिए इंग्लिश गेंदबाज़ो को बॉलिंग पर विशेष ध्यान देना होगा। अब देखना ये दिलचस्प होगा कि मजबूत इंग्लैंड के सामने कैरेबियाई आंधी चलती या नहीं । 

loading...