Breaking News
  • सोनभद्र जाने पर अड़ी प्रियंका गांधी, धरने का दूसरा दिन
  • असम और बिहार में बाढ़ से 150 लोगों की गई जान, 1 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित
  • इलाहाबाद हाइकोर्ट ने पीएम मोदी को जारी किया नोटिस, 21 अगस्त को सुनवाई
  • कर्नाटक पर फैसले के लिए अब सोमवार का इंतजार

50-50 की जगह 20-20 ओवरों की मैच खेल सकता है भारत

क्रिकेट विश्व कप 2019 में इस बार बहुत से मैच बारिश की भेंट चढ़ गए, और गुरुवार को टीम इंडिया और 2015 विश्व कप की उपविजेता न्यूज़ीलैंड के बीच ट्रेंट ब्रिज नॉटिंघम में होने वाले मैच पर पर भी बादल मेहरबान होते दिखाई दे रहे है। तीन दिन से लगातार मूसलाधार बारिश के चलते गुरुवार को भी मौसम के ख़राब रहने के चांस ज्यादा है। ब्रिटेन मौसम विभाग के माने तो गुरुवार सुबह 10 बजे से ही हलकी बूंदा बांदी का अनुमान है, ऐसे में अब देखना ये है कि मैच पूरे 50 ओवर का होता भी है या नहीं या फैंस को एकबार फिर 20-20 देखने को मिलेगा।

विश्व कप में इस बार लंदन में मौसम आंख मिचोली सी खेल रहा है। जैसे जैसे विश्व कप अभियान आगे बढ़ रहा वैसे ही वैसे बारिश अपने दखल से फैंस के खुशी पर पानी फेर दे रहा है। लेकिन बारिश के इस शरारत से ऐसा लग रहा है मानो भारत के विजयरथ को कहीं बारिश रोक न दे। नॉटिघम में हुई लगातार बारिश के चलते ही दोनों  टीम को अभ्यास सत्र भी रद्द करना पड़ा। तीन दिन से चल रही लगातार बारिश से मैदान ने भी काफी पानी सोख लिया है ऐसे में ICC अधिकारियो का कहना है की इस परिस्थिति में मैच करा के हम खिलाड़ियों को किसी संकट में नहीं डालना चाहते है।  अब मैच होता है या नहीं ये पूरी तरह से मौसम पर निर्भर है, उम्मीद  यह  लगायी जा रही है की अगर पूरा मैच नहीं होता है तो कम से कम 20 -20 ओवर का मैच  हो सकता है। मैच अगर कम ओवरो का होता है तो  इस स्तिथि में दोनों ही टीमों का पलड़ा लगभग बराबर का ही रहेगा।

कई मैच बारिश की भेंट चढ़ गए

जून और जुलाई के महीने में मौसम के पूर्वानुमान को देखते हुए ICC ने किसी भी मैच के लिए सुरक्षित दिन नहीं रखाल है। इस बात को जब ICC के सामने रखा गया तो ICC के चीफ एक्सिक्यूटिव ऑफिसर डेव रिचर्डसन का कहना है कि लंदन में होने वाली ये बरसात बेमौसम है, और रिज़र्व डे रखने से टूर्नामेंट और लम्बा खिंच सकता था । जो की व्यावहारिक तरीके से ठीक नहीं होता। उन्होंने कहा, ‘‘ जितनी बारिश पूरे जून में होती है, उससे दोगुनी पिछले दो दिन में हो गई। ब्रिटेन में यह महीना सबसे सूखा माना जाता है। जून 2018 में केवल दो मि.मी. बारिश हुई थी, लेकिन पिछले 24 घंटों में ही दक्षिण पूर्व इंग्लैंड में 100 मि.मी. बारिश हो गई।’’

सीईओ ने कहा, ‘‘हम रिजर्व डे रख भी दें, लेकिन इसकी क्या गारंटी है कि उस दिन बारिश नहीं होगी? रिजर्व डे रखने से पिच और टीम की तैयारियां से लेकर यात्रा के दिनों से संबंधित कई तरह की परेशानियां होंगी। इससे दर्शक भी प्रभावित होंगे, जिन्होंने मैच देखने के लिए कई घंटों की यात्रा की है।’’अब तो इस मैच का होना मौसम पर निर्भर करता है। उम्मीद करते है की मौसम खुले और क्रिकेट फैंस को कम ओवर्स का ही सही लेकिन एक रोमांचक मैच देखने को मिले।

loading...