Breaking News
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव में 200 सीटों के अंदर सिमट जाएगी एनडीए: चंद्रबाबू नायडू
  • पश्चिम बंगाल में वोटिंग के दौरान हिंसा, दमदम में रो पड़े मतदान अधिकारी
  • गोडसे विवाद पर नीतीश, साध्वी प्रज्ञा का बयान बर्दाश्त से बाहर, पार्टी से निकाला जाए
  • लोकसभा चुनाव: सातवें व अंतिन चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर वोटिंग

सहवाग ने क्यों ठुकराया भाजपा का यह बड़ा ऑफर, गंभीर मान गए!

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व विस्फोटक सलामी बल्लेबाज विरेंद्र सहवाग ने सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी से मिले एक बड़े ऑफर को ठूकरा दिया। यह जानकारी भाजपा के दिल्ली इकाई के एक वरिष्ठ नेता के हवाले से दी जा रही है। उन्होंने बताया कि पार्टी मे सहवाह को पश्चिम दिल्ली सीट ऑफर की थी, लेकिन उन्होंने निजी कारणों का हवाला देते हुये प्रस्ताव को ठुकरा दिया।

बीजेपी नेता के अनुसार चुनाव लड़ने की बात पर सहवाग ने कहा कि, वह राजनीति या चुनाव लड़ने में दिलचस्पी नहीं रखते हैं। हालांकि सहवाग की माने तो यह महज अफवाह है। बता दें कि इससे पहले इसी साल फरवरी के महीने में भी ऐसी खबर आई थी कि सहवाग भाजपा में शामिल हो रहे हैं। दावा किया जा रहा था, बीजेपी सहवाग को हरियाणा के रोहतक से चुनाव लड़ाना चाहती थी।

एक साथ 2 अनोखी शादी, दोनों दुल्हन ने दूल्हे को पहनाया मंगलसूत्र

हालांकि ऐसा पहली या दूसरी बार नहीं हुआ है, जब सहवाग के राजनीति में आने की चर्चा हुई है। बल्कि इससे पहले साल 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले भी ऐसी सहवाग के राजनीति में आने, भाजपा में शामिल होने और चुनाव लड़ने जैसी खबरें चर्चा में थी।

जानिए कौन हैं अजीम प्रेमजी, परोपकार के लिए दान कर दिए 145,000 करोड़

वहीं एक और अहम खबर है कि टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी गौतम गंभीर ने बीजेपी के इस प्रस्ताव को मान लिया है। यानी गंभीर 2019 लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं। बीजेपी नेता के अनुसार वह चुनाव को लेकर काफी ‘गंभीर’ हैं और चुनावी बैठकों में भी हिस्सा ले रहे हैं। हालांकि फिलहाल यह तय नहीं हुआ कि गंभीर दिल्ली के किस सीट से चुनाव लड़ेंगे।

भारत में नहीं पाकिस्तान से हुई होली की शुरुआत, लेकिन पाकिस्तानियों ने तोड़ दिया मंदिर!

loading...