Breaking News
  • सोनभद्र जमीन मामले में अब तक 26 आरोपी गिरफ्तार, प्रियंका करेंगी मुलाकात
  • वेस्टइंडीज दौरे के लिए रविवार को 11:30 बजे होगा टीम इंडिया का चयन
  • बिहार : बाढ़ से अब तक 83 लोगों की मौत
  • कर्नाटक में आज दोपहर डेढ़ बजे तक सरकार को साबित करना होगा बहुमत

… दसवीं के बच्चे जैसा है सरफराज

नई दिल्ली : अपने अजेय क्रम को बरकरार रखते हुए टीम इंडिया ने एक बार फिर साबित कर दिया कि वह हर मामले में पाकिस्तान से बीस है। चाहे वह बॉलिंग हो या बैंटिंग। लेकिन पाकिस्तान हमेशा अपने आपको बीस ही समझता था। लेकिन रविवार को मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रेफर्ड ग्राउंड पर पाकिस्तान को 89 रनों से करारी हार के बाद  पूर्व पाकिस्तानी गेंदबाज शोएब अख्तर तिलमिला उठे और उन्होंने सरफराज को एक छोटा बच्चा बता दिया।

एक यूट्यूब चैनल पर शोएब ने कहा कि सरफराज ने बिना दिमाग के कप्तानी की। हमारी मैनेजमेंट बेवकूफ है और कप्तान उसका मामू बना हुआ है। ये कप्तान ऐसा है जैसे 10वीं के स्टूडेंट्स होते हैं, जो मैनेजमेंट ने कह दिया, बस वही करना है। अख्तर ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने मैच को लेकर इतने ट्वीट किए, लेकिन बिना दिमाग के कप्तान को कुछ समझ में नहीं आया। वैसे इमरान खान को वैसे लोगों के लिए ट्वीट करना चाहिए था, जिनमें कैपिसिटी हो। इस टीम में कैपेसिटी ही नहीं है।

शोएब अख्तर ने कहा कि इस मुकाबले में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला बिना दिमाग वाला कप्तान ही करता। सरफराज को यही पता नहीं था कि उनकी टीम स्ट्रेंथ क्या है। पाकिस्तान बॉलिंग की बदौलत मैच निकाल सकता था। अगर पाकिस्तान की टीम पहले बैटिंग करती तो गेंदबाजों पर दबाव कम होता, लेकिन ब्रेनलेस कप्तान और मैनेजमेंट मैच हारने की नीयत से खेल रहे थे। शोएब ने कहा 'मैं सोच रहा था कि इस ब्रेनलेस कप्तान में थोड़ा इमरान खान डाल दूं, लेकिन देर हो चुकी थी।'

जिसके बाद उन्होंने अपने ही देश के गेंदबाज हसन अली पर कहा कि बॉलिंग में हसन अली ने सबसे घटिया गेंदबाजी की। वह वाघा बॉर्डर पर लंबी-लंबी छलांगें लगाता है, लेकिन मैच में शॉट पिच गेंदें फेंक रहा था। वह अगर अपने को बड़ा गेंदबाज तब समझता जब विकट निकालता। हसन अली अपने को टी-20 फॉर्मेंट का खिलाड़ी समझता है। पीएसएल (पाकिस्तान सुपर लीग) खेलकर ही वह खुश है। बॉलिंग में ना पेस है और ना स्विंग।

हालांकि शोएब ने जो भी कहा हो लेकिन उन्होंने ये मान लिया कि सरफराज अभी बच्चा बा।

loading...