Breaking News
  • अंडमान के हैवलॉक द्वीप पर 800 टूरिस्टं फंसे, नेवी का रेस्यूंद्र ऑपरेशन
  • राज्यसभा और लोकसभा में नोटबंदी पर हंगामा
  • श्रीहरिकोटा: सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से दूरसंवेदी उपग्रह RESOURCESAT-2A का सफल प्रक्षेपण

राजकोट टेस्ट से ग्रहण हटा, सुप्रीम कोर्ट ने दी BCCI को पैसे खर्च करने की छूट

नई दिल्ली: राजकोट में बुधवार को होने वाले टेस्ट मैच पर लगा ग्रहण अब हट गया है। सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई पर फंड ट्राफर की रोक को फिलहाल हटा दिय़ा है। इसके बाद अब बीसीसीआई आदालत के अगले आदेश तक पैसा खर्च कर सकता है।

फंड ट्रासफर पर लगे रोक को लेकर बीसीसीआई सुप्रीम कोर्ट में आज एक नई अर्जी के साथ पहुंचा, जिसमें उसने बुधवार को राजकोट में इंग्लैंड के साथ होने वाले टेस्ट मैच के लिए फंड देने की मांग की।

बीसीसीआई की ओर से वरिष्ठ कांग्रेस नेता और वकिल कपिल सिब्बल ने कहा कि बीसीसीआई को फंड दिया जाए, उन्होंने आगे कहा कि फंड नहीं दिया गया तो मैच नहीं हो पाएगा। हालांकि इस दौरान भी बीसीसीआई के तेवर सख्त ही रहा।

लेकिन बीसीसीआई के गुहार लगाने के बाद अदालत ने इस मैच के लिए फंड ट्रासफर करने की छूट दे दी।अदालत के इस फैसले के बाद से अब पहला टेस्च मैच भारत-इंग्लैंड के बीच बुधवार को राजकोट में निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही खेला जाएगा। जानकारी के अनुसार अदालत इस मैच के लिए 58.66 लाख रुपये की मंजूरी दी है।

खबरों के अनुसार इस फंड को बीसीसीआई इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड, थर्ड अंपायर और इंश्योरेंस के कामों में खर्च करेगा। इसके अलाव अदालत ने सीरीज के अन्य मैचों के लिए भी फंड की मंजूरी दे दी है। हालांकि इसके बाद भी बीसीसीआई को अपने खर्चे का हिसाब जस्टिस लोढा पैनल को देना होगा, जिसके बाद इस खर्चे की जांच भी की जाएगी।

आपको बता दे कि अदालत ने आज एक और बड़ा फैसला दिया है। अदालत ने लोढ़ा पैनल को बीसीसीआई में देख रेख के लिए प्रशासनिक अधिकारियों और सचिवों को भी नियुक्ति करने की भी मंजूरी दे दी है।