Breaking News

रुस: भारत के बेटों ने दिया झटका, लेकिन इस बेटी ने फहराया तिरंगा

कास्पिइस्क: रूस में चल रहे उमाखानोव मेमोरियल टूर्नामेंट में भारत की महिला मुक्केबाज स्वाति बोरा ने गोल्ड जीत तक देश का नाम रोशन किया है। स्वाति बोरा ने 75 किलोग्राम भारवर्ग में मेजबान देश रूस की एना अन-फिनो-जेनोवा को फाइनल में हराकर स्वर्ण पदक पर कब्जा किया।

हालांकि पुरुष वर्ग के 81 किलोग्राम भार वर्ग में ब्रजेश यादव और 91 किलोग्राम भार वर्ग में वीरेंद्र कुमार को फाइनल में मिली हार के बाद रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा। बता दें कि स्वर्ण पदक जीतने वाली स्वाति ने शानदार शुरुआत की और विरोधी खिलाड़ी को रक्षात्मक खेल खेलने पर मजबूर किए रखा।

जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान ने बरसाए ‘आग के गोले’, 4 जवान शहीद 5 घायल

वहीं रूसी खिलाड़ी ने भी भारतीय मुक्केबाज पर हावी होने के काफ प्रयास किए लेकिन रूस की एना स्वाती के सामने विफल रहीं और उन्हें हार का सामना करना पड़ा। जबकि पुरुष वर्ग में ब्रजेश को रूसी खिलाड़ी के सामने शर्मनाक हार का मुंह देखना पड़ा। जिन्हें रूसी खिलाड़ी राबोडानोव ने 5-0 से हराया।

ऐसी ही हालत रही एक अन्य भारतीय पुरुष मुक्केबाज वीरेंद्र की, जिन्हें स्वीडन के ए. ब्वाम्बाले ने 5-0 से हराया। बता दें कि इस प्रतियोगिता में भारत ने कुल सात पदक जीते, जिसमें से चार कांस्य, दो रजत और एक स्वर्ण पदक हैं। जानकारी के लिए बता दें कि महिला वर्ग के अन्य मुकाबलों में 51 किलोग्राम भारवर्ग में पिंकी रानी, 57 किलोग्राम भारवर्ग में शाशी चोपड़ा, और 60 किलोग्राम भारवर्ग में पवित्रा अंतिम चार तक तो पहुंत सकी, लेकिन इसके आगे वे जीतने में असफल रही।

गरीबरथ का इंजन गुजरते ही टूटी गई पटरी, लेकिन दिलेर चालक ने टाल दिया बड़ा हादसा

बॉलीवुड की इस बिगड़ैल हसीना का video नहीं देखा तो कुछ नहीं देखा !

loading...