Breaking News
  • कोलकाता में ममता की महारैली में जुटा मोदी विरोधी मोर्चा, केजरीवाल, अखिलेश समेत 20 दिग्गज नेता
  • रूसी तट के पास गैस से भरे 2 पोत में आग लगने से 11 की मौत, 15 भारतीय भी थे सवार
  • जम्मू-कश्मीर: भारी बर्फबारी के बीच सुरक्षाबलों का ऑपरेशन ऑल आउट, 24 घंटे में 5 आतंकी ढेर
  • वाराणसी: 15वे प्रवासी सम्मेलन में पीएम मोदी, लोग पहले कहते थे कि भारत बदल नहीं सकता. हमने इस सोच को ही बदल डाला
  • नेपाल ने लगाया 2000, 500 और 200 रुपए के भारतीय नोटों पर बैन

देश भर में छा गई जम्मू-कश्मीर की बावलीन कौर, 16 साल की उम्र में कर दिया कमाल

पुणे: भारत सरकार के विशेष पहल पर यहां खेलो इंडिया यूथ गेम्स में भारत के अलग-अलग शहरों से आए युवा बच्चे अपनी प्रतिभा से लोगों को हैरान कर रहे हैं। प्रतियोगिता के दूसरे दिन महाराष्ट्र 15 स्वर्ण समेत कुल 57 पदक के साथ पहले स्थान पर है, जबकि 13 स्वर्ण, 10 रजत और 13 कांस्य पदक के साथ दिल्ली दूसरे स्थान पर और हरियाणा 12 स्वर्ण, 10 रजत एवंम 18 कांस्य पदक के साथ तीसरे स्थान पर है।

खेलो इंडिया यूथ गेम्स में जम्मू और कश्मीर की युवा जिम्नास्ट बावलीन कौर काफी सुर्खियों में हैं। इसी सप्ताह 16 साल की हुईं बावलीन कौर ने पांच पदक जीते, जिसमें से तीन स्वर्ण और दो चांदी पदक है। इससे पहले साल 2018 में खेले गए भारत स्कूल गेम्स यानी खेलो इंडिया यूथ गेम्स में चार पदक हासिल किए थे।

दरअसल, जम्मू और कश्मीर ने गुरुवार तक छह पदक जीते थे, जिसमे से पांच बावलीन के थे। बावलीन ने अपनी सफलता का श्रेय अपने कोच कृपाली पटेल सिंह और एसपी सिंह को दिया। बावलीन ने कहा मैं अपने कोच के अथक परिश्रम के कारण यहां तक पहुंत सकी हूं।

आपको बता दे कि भारत सरकार की खेल मंत्रालय द्वार आयिजत खेलो इंडिया यूथ गेम प्रतियोगिता को खेलो इंडिया स्कूल गेम के नाम से भी जानते हैं। इस प्रतियोगिता का आयोजन का मुख्य मकसद है देशे के युवाओं की प्रतिभा तलाशना। प्रतियोगिता का आयोजन अंडर 17 (स्कूल) और अंडर 21 (कॉलेज) स्तर पर किया जाता है और हर साल सर्वश्रेष्ठ 1000 बच्चों को अंतर्राष्ट्रीय खेल स्पर्धाओं के लिए तैयार करने के लिए 8 साल तक 5,00,000 रुपये की सालाना छात्रवृत्ति दी जाएगी।

loading...