Breaking News
  • आज शाम 6 बजे तक खत्म हो सकता है कर्नाटक का नाटक, कुमारस्वामी करेंगे फ्लोर टेस्ट
  • बिहार के दरभंगा में अभी भी बाढ़ से राहत नहीं, लोगों ने सड़क पर ठिकाना
  • आज होगा ब्रिटेन के अगले प्रधानमंत्री का चयन
  • बीजेपी संसदीय दल की बैठक के बाद, पीएम मोदी कर सकते हैं सांसदों को संबोधित

Commonwealth2018: भारत के खाते में अब तक इतने मेडल, जीतू ने भी जीता गोल्ड

गोल्ड कोस्टः ऑस्ट्रेलिया में आयोजित 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन लगातार जारी है। प्रतियोगिता के शुरुआत से ही भारत बेहतर प्रर्दशन करते हुए हर रोज पदक अपने नाम कर रहा है। वहीं प्रतियोगिता के पांचवे दिन भारत के अनुभवी निशानेबाज जीतू राय ने सोमवार को भारत की झोली में एक और गोल्ड मेडल डाला।

जीतू ने बेहतर खेल का परिचय देते हुए पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीता, वहीं एक अन्य भारतीय निशानेबाज ओम मिथारवाल को कांस्य पदक पर संतोष करना पड़ा। जीतू ने 20वें कामनवेल्थ गेंस में भी 50 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीता था।

मौत का भयंकर मंजर: केमिकल हमले के बाद हुआ मिसाइल अटैक, मारे गए अनगिनत लोग...

इस खेल के फाइनल में जीतू राय की अच्छी शुरुआत रही, उन्होंने पहले राउंड में 150.1 का स्कोर किया, वहीं मिथारवाल ने 147.1 का स्कोर हासिल किया। पहले राउंड के एलिमिनेशन में जीतू शीर्ष पर स्थान बनाये थे, वहीं मिथारवाल एक स्थान ऊपर उठते हुए रजत पदक की दौड़ में शामिल हो गए थे।

Full List: कर्नाटक जीतने के लिए BJP ने जारी किए 72 खास नाम, इस CM उम्मीदवार मिली...

हालांकि फाइनल मुकाबले में पहले 3 निशानेबाज रह गए थे। इसमें दो भारतीय जीतू और मिथारवाल एवं एक आस्ट्रेलियाई निशानेबाज कैरी बेल शामिल थे, जिन्होंने बाद में अच्छा प्रदर्शन कर रजत पदक अपने नाम किया। वही मिथारवाल ने कुल 214.3 का स्कोर हासिल कर कांस्य पदक पर कब्जा जमाया।

7 साल की बच्ची का रेप करता पकड़ा गया 45 साल का आदमी, लोगों ने दी दर्दनाक मौत की सजा...

वही अब स्वर्ण पदक के लिए जीतू और बेल के बीच मुकाबला हो रहा था। इस पर जीतू ने बेहतर प्रदर्शन करते हुए कुल 235.1 का स्कोर कर गोल्ड अपने नाम कर लिया और साथ ही राष्ट्रमंडल खेलों में इस स्पर्धा का नया रिकॉर्ड भी बनाया। इस साल अब तक देखा जाए तो भारत कि झोली मे कुल 17 मेडल आए हैं जिसमें से 8 गोल्ड, 4 सिल्वर और 5 ब्रॉन्ज हैं, जबकि खिलाड़ियों का बेहतरीन प्रदर्शन अब भी उसी रफ्तार से जारी है, ऐसे में पदकों की संख्या बड़ते देर नहीं लगने वाली!

loading...