Breaking News
  • दिल्लीः कोहरे के चलते लगभग 100 ट्रेन देरी से चल रही है, कई ट्रेनों के समय में बदलाव
  • मुंबई: भारत और इंग्लैंड के बीच चौथा टेस्ट मैच वानखेड़े स्टेडियम में, भारत 2-0 से आगे
  • पाकिस्तान माना कि कथित भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव को लेकर पास पर्याप्त सबूत नहीं

28 बरस के हुए भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली, पढ़िए उनके 'विराट' बनने की कहानी...

NEW DELHI:- इंडियन टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली का आज पूरे 28 साल के हो गए है। कोहली का जन्म 5 नवंबर 1988 को राजधानी दिल्ली में हुआ था। विराट अपनी धाकड़ बल्लेबाज से काफी कम समय में किक्रेट की दुनिया में सबसे लोकप्रिय चेहरा बन चुके है, अपने तेजतर्रार खेल से कई नए रिकॉर्ड कायम कर किए  है और इस समय कोहली  टीम इंडिया की जान है। वरिष्ट क्रिकेटरों की माने तो कोहली वनडे क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर के सभी रिकॉर्ड तोड़ सकते है। कोहली खेल के साथ ही ग्लैमर में भी आगे हैं, उनका खुद का फैशन ब्रांड हैं। जिम चैन है, कोहली के पास देश की सबसे लेटेस्ट और महंगी ऑडी कारों का पूरा काफिला हैं।  

कोहली ने एक दिवसीय क्रिकेट में अपने करियर की शुरूआत श्रीलंका के खिलाफ 18 अगस्त 2008 को हुए मैच से की थी और अपना पहला टेस्ट मैच वेस्ट इंडीज के खिलाफ 20 जून 2011 को खेला था। वहीं टेस्ट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के 2014 में टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद भारतीय टेस्ट टीम की कमान सौंपी गई।

कोहली के बारे में विराट के कोच राजकुमार शर्मा बताते है कि जब विराट 10 साल के थे तभी उनके पिता विराट को क्रिकेट की कोचिंग दिलाने के लिए उनके पास लेकर आएं थे। शर्मा बताते हैं कि शुरुआत से ही विराट अन्य बच्चों से अलग लगता था। वो क्रिकेट की बारिकियां सीखने के लिए हमेशा गंभीर रहता था। शर्मा आगे बताते है कि कोहली के शुरुआती खेल को देखकर लगता था कि वो एक दिन जरुर देश का नाम रोशन करेगा।  

अभी भी विराट को सलाह देने के सवाल पर राजकुमार शर्मा कहते हैं कि किसी मैच में हार के बाद भी हमारी नॉर्मल बातचीत होती है। बस मैं उनसे इतना कहता हूं कि अगले मैच में अच्छा करना है। बाकी जब विराट अच्छा करते हैं तो मैं उनकी तारीफ करता हूं और वो खुश भी होते हैं। मुझे उसकी बल्लेबाजी में कोई कमी नजर आती है तो मैं उसको बताता हूं। विराट की बॉडी लैंग्वेज के बारे में राजकुमार कहते हैं कि एग्रेशिव प्ले विराट की स्ट्रेंथ है और इसी की बदौलत वो इतना सफल हुआ है।