Breaking News
  • राम मंदिर मामले में SC कोताही बरत रहा है- CM योगी के मंत्री धर्मपाल का बयान
  • रेवाडी: पुलिस टीम पर बदमाशों का हमला, सब इंस्पेक्टर की मौत
  • सबरीमाला: निलक्कल, पंबा में धारा-144 लगाई गई
  • लखनऊ: पुलिस लाइन में सीएम योगी का औचक निरीक्षण

कर्नाटक के 'नवाबी मंत्री' इनकी मांगों और खर्चों से सरकार भी परेशान?

बेंगलुरु: कर्नाटक में जनता दल सेक्युलर और कांग्रेस पार्टी की मिलीजुली सरकार कैसे भी बन पायी हो लेकिन सरकार में शामिल नेताओं की फरमाइशें जस की तस ही हैं। राज्य में जनता के टैक्स के पैसे को अपना जागीर समझने वाले एक नेता ने तो हद ही कर दी है।

दरअसल कथित रूप से खुद को नवाब मानने वाले कांग्रेस विधायक और एचडी कुमारस्वामी की सरकार में शामिल खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री जमीर अहमद खान की मांगों से सरकार भी परेशान हो गयी है! बताया जा रहा है कि सरकार द्वारा उन्हें आवंटित की गयी टोयोटा इनोवा कार को उन्होंने छोटा बताते हुए लेने से इनकार कर दिया। उसके जगह पर महंगाई फॉर्च्यूनर की मांग शुरू कर दी है। इस बारे में उनका कहना है कि यह बहुत छोटी गाड़ी और कोई भी उन्हें इसमें नोटिस नहीं कर पाएगा। साथ ही उन्हें बड़ी और महंगी गाड़ी में बैठने का शौक है। इसलिए उन्हें टोयोटा इनोबा की जगह फॉर्च्यूनर दी जाए है।

खनन माफियाओं ने AAP MLA की कर दी पिटाई, पुलिस को भी नहीं बख्शा

 

इसके लिए उन्होंने कार्मिक विभाग और प्रशासनिक सुधार (DPAR) से मांग करते हुए कहा है कि पूर्व सीएम कों कांग्रेस नेता सिद्धारमैया (पूर्व मुख्यमंत्री) द्वारा उपयोग की जाने वाली टोयोटा फॉर्च्यूनर गाड़ी उन्हें दी जाए। 'जमीर अहमद खान ने कहा, 'मैं एक और एसयूवी का भी उपयोग कर रहा हूं। मुझे बड़ी गाड़ी में बैठने की आदत है ,इसलिए मैंने बड़ी एसयूवी के लिए कहा है।

पूरी दुनिया मना रही योग दिवस तो भारत का यह राज्य है अभी भी है बेखबर!

मेरे लिए जानना जरूरी नहीं है कि सिद्धारमैया क्या इस्तेमाल कर रहे थे। मैंने ये सुना था कि वो अच्छी कंडीशन में है, इसलिए मैंने उस वाहन के लिए अनुरोध किया। आगे इसके लिए उन्होंने कथित तर्क देते हुए कहा है कि, वह एक मंत्री हैं ऐसे में अगर वह अपनी पुरानी और रेगुलर गाड़ी से ही कहीं जायेंगे तो उन्हें कोई भी नहीं पहचानेगा। इस लिए थोड़ा गाड़ी अच्छी होनी चाहिए।   

यह भी देखें-

loading...