Breaking News
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भुवनेश्वर दौरे पर
  • चक्रवाती तूफान DAYE ने ओडिशा के गोपालपुर तट पर दी दस्तक

तो क्या कर्ज माफी के वादे से पलट गये हैं सीएम कुमारस्वामी?

बेंगलुरु: कर्नाटक में सरकार बनने से पहले और जनता दल सेक्युलर गठबंधन की एचडी कुमारस्वामी की सरकार के बनने बाद शुरू हुआ सियापा अभी भी खत्म होता नहीं दिखा रहा है। राज्य में सरकार बनने के बाद विपक्ष ने एकबार फिर से कुमारस्वामी के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है।

बतादें कि राज्य में एचडी कुमारस्वामी की सरकार तो जोड़ तोड़ कर बन गयी है। वहीँ सरकार बनने के बाद एक बार फिर से कुमारस्वामी की सरकार पर मुसीबत आ खड़ी हुई है। दरअसल कांग्रेस पार्टी और जनता दल सेक्युलर दोनों ने ही सरकार में आने पर किसानों के कर्जमाफी के लिए बड़े बड़े वादे किये थे, ऐसे में अब राज्य में जनता दल सेक्युलर और कांग्रेस दोनों ही दलों की मिली जुली सरकार बनी है। ऐसे में राज्य के विपक्ष ने सरकार पर किसान कर्फ़ माफ़ी का मुद्दा उठाते हुए दवाब बनाना शुरू कर दिया है।

उग्रवादी घोषित हुए हिंदुत्व से जुड़े वीएचपी-बजरंग संगठन

बताया जा रहा है कि सरकार के मंत्रिमंडल के विस्तार और विभागों के बंटवारे के बाद सोमवार से ही सरकार ने अपना काम काज शुरू किया था। जिसके बाद राज्य के विपक्ष यानी की बीजेपी ने सरकार पर किसानों की कर्ज माफी का मुद्दा उठाते हुए घेरना शुरू कर दिया है। ऐसे में सरकार किसानों के कर्ज पर अपनी स्थित को साफ़ करना पड़ा है।

बोरे में कुछ मिला ऐसा, पुलिस से लेकर सरकार तक हुई परेशान?

कर्जमाफी को लेकर विपक्ष के सवालों के बाद कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कहा है कि वो इस मुद्दे को लेकर गंभीर हैं और जल्द ही इस पर फैसला लेंगे। इससे पहले ही शपथ लेने के बाद ही मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने किसानों की कर्जमाफी का वादा जल्द ही पूरा करने का फैसला लिया था। बताया जा रहा है कि विपक्ष के बढ़ते दवाब को देखते हुए सीएम एचडी कुमारस्वामी ने जल्द ही किसान कर्जमाफी पर कैबिनेट की बैठक मबुलाई है। इस बैठक में किसानों के ऋण में छूट देने के मुद्दे पर चर्चा होगी।

यह भी देखें-

loading...