Breaking News
  • मोदी की बंपर जीत पर राहुल गांधी ने दी शुभकामनाएं
  • अमेठी सीट से हारे राहुल गांधी, वायनाड से मिली जीत
  • मोदी ने अपने समर्थकों के साथ सरकार बनाने का दावा पेश किया
  • सर्वसहमति से NDA विधायक दल के नेता चुने गए नरेंद्र मोदी
  • राहुल गांधी ने CWC के सामने इस्तीफे की पेशकश की, लेकिन सदस्यों ने ठुकराया: कांग्रेस
  • अमेठी में स्मृति ईरानी के करीबी कार्यकर्ता सुरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्या
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव 2019: NDA को प्रचंड बहुमत, 300 से अधिक सीटों पर बीजेपी की जीत
  • 24 मई: आज भंग हो सकती है 16वीं लोकसभा, पीएम मोदी की अध्यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक

600 पेज की चार्जशीट में खुलासा: एक ही बंदूक से हुई थी लंकेश और कलबुर्गी की हत्या

बेंगलुरु: वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश और तर्कवादी एमएम कलबुर्गी की हत्या मामले में पुलिस की चार्जशीट में अबतक का सबसे बड़ा खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि दोनों की हत्या में एक ही हथियार का इस्तेमाल किया गया था।

बताते चले कि पिछले वर्ष पत्रकार गौरी लंकेश और एमएम कलुबर्गी की हत्या को लेकर कर्नाटक पुलिस की SIT ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है। चार्जशीट में फोरेंसिक लैब की रिपोर्ट का जिक्र कर बताया गया है कि गौरी लंकेश की हत्या में उसी बंदूक का इस्तेमाल किया गया, जिससे कर्नाटक के प्रख्यात तर्कवादी और लेखक एमएम कलबुर्गी की हत्या की गई थी। दोनों की हत्या में एक ही हथियार के इस्तेमाल से दोनों हत्याओं का कनेक्शन भी जुड़ा निकल आया है। करीब 600 पेज की दायर की गयी चार्जशीट में एफएसएल रिपोर्ट के हवाले से बताया गया है कि गौरी लंकेश और एमएम कुलबुर्गी की हत्या में 7.65 एमएम के देसी पिस्तौल का इस्तेमाल किया गया था। हालाँकि दोनों की हत्या के बीच काफी समय का अंतर है।

जिसका डर था वही हुआ: बीजेपी आईटी सेल ने वायरल की प्रणब दा की एडिटेड फोटो?

कलुबर्गी की हत्या साल 2015 और लंकेश की हत्या 2017 में हुई थी। वहीँ पुलिस ने गौरी लंकेश हत्याकांड में नवीनकुमार को मुख्य आरोपी बनाया है। बताया जा रहा है कि हत्या की साजिश लम्बे समय से की जा रही थी। जिसे बारी बारी से अंजाम दिया गया था गया। इससे पहले कर्नाटक SIT ने 21 मई को दावनगिरी जिले से एक अन्य आरोपी अमोल काले को भी गिरफ्तार कर लिया था, जिसे कलबुर्गी की हत्या का आरोपी बताया गया है।

वहीँ कलबुर्गी की हत्या के बाद साल 2017 में दोनों ने अपने साथी के साथ मिलकर गौरी लंकेश की हत्या काण्ड को भी अंजाम दिया था। ज्ञात हो कि गोरी लंकेश हत्या मामले में कर्नाटक पुलिस ने 30 मई को चार्जशीट दाखिल की थी। इस 600 पेज की चार्जशीट में बताया गया है कि हिंदू धर्म की आलोचना के चलते गौरी लंकेश की हत्या की गई थी। हालाँकि चार्जशीट के सभी पेजों को सार्वजनिक नहीं किया गया है।

यह भी देखें-

loading...