Breaking News
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव में 200 सीटों के अंदर सिमट जाएगी एनडीए: चंद्रबाबू नायडू
  • पश्चिम बंगाल में वोटिंग के दौरान हिंसा, दमदम में रो पड़े मतदान अधिकारी
  • गोडसे विवाद पर नीतीश, साध्वी प्रज्ञा का बयान बर्दाश्त से बाहर, पार्टी से निकाला जाए
  • लोकसभा चुनाव: सातवें व अंतिन चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर वोटिंग

कर्नाटक में गिरने वाली है जेडीएस-कांग्रेस की सरकार ?

नई दिल्ली: कर्नाटक में इसी साल हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद तेजी से बदले घटनाक्रमों के बीच चुनाव में तीसरे नंबर की पार्टी रही जेडीएस ने दूसरे नंबर की पार्टी कांग्रेस के साथ गठजोड़ कर राज्य में नई सरकार का गठन किया और जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी राज्य के मुख्यमंत्री बने।

हालांकि कर्नाटक में जेडीएस और कांग्रेस की सरकार बनने के साथ ही दोनों दोनों दलों के बीच अनबन की खबरें आने लगी थी। लेकिन दोनों दलों के शीर्ष नेताओं ने बातचीत के साथ विवाद सुलझा लिए जाने का दावा किया। वहीं अब एक बार फिर से कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस की सरकार का संकट गहराता जा रहा है।

जम्मू-कश्मीर में जारी है सेना का बड़ा ऑपरेशन, मारे जाएंगे कई आतंकी!

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस में विद्रोही स्वर उठ रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि झारकिहोली भाइयों ने कांग्रेस नेतृत्व से मतभेद के बाद पार्टी को धमकी दी है। झारकिहोली भाइयों ने कांग्रेस को चेतावनी दी कि वे 12 विधायकों के साथ पार्टी छोड़ सकते हैं। हालांकि कांग्रेस पार्टी ने ऐसी खबरों को खारिज किया है, लेकिन राजनीति में कब किसका मिजाज बदल जाए ये कह पना आसान नहीं है।

कांग्रेस पार्टी के विधायकों को बीजेपी की सरकार में शामिल होने जैसी खबरों को खारिज करते हुए कर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष डीजी राव ने दावा किया है उनके विधायक कहीं नहीं जा रहे हैं। पार्टी और सरकार में सबकुछ ठीक है। पार्टी सभी विधायकों के संपर्क में हैं।

‘गणपति बप्पा’ के जश्न में डूबा भारत- यहां बप्पा के लिए 70 किलो सोना...

आपको बता दें कि विधानसभा चुनाव में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी और इस लिहाज से बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद के लिए शपथ ग्रहण भी कर लिया था, लेकिन बीजेपी के पास सरकार बनाने के लिए बहुमत नहीं होने के कारण येदियुरप्पा को अपने से इस्तीफा देना पड़ा था। हालांकि अगर कांग्रेस के 10-12 विधायक बीजेपी में शामिल होते हैं तो फिर से राज्य में फिर से भाजपा सरकरा की प्रबल संभावना दिख रही है।

देखने वाले रह जाते है दंग, 4 हजार फीट उंचे पहाड़ पर प्रकट हुए भगवान गणेश !

loading...