Breaking News
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भुवनेश्वर दौरे पर
  • चक्रवाती तूफान DAYE ने ओडिशा के गोपालपुर तट पर दी दस्तक

कर्नाटक: सीएम से मिलने के लिए छात्रों ने की 250 किलोमीटर की पैदल यात्रा

बेंगलुरु: छात्र देश का भविष्य होते हैं। लेकिन इसी भविष्य को बनाने वाले हमारे स्कूलों को अगर बंद किया जाने लगे तो न छात्र रहेंगे और न ही भविष्य। ऐसा ही कुछ मामला कर्नाटक में देखने को मिला। जब 43 छात्रों ने अपने स्कूल को बचाने के लिए 250 किलोमीटर की पैदल यात्रा की!

बतादें कि पूरा मामला कर्नाटक के चित्रदुर्ग जिले का है। यहाँ के अलाघट्टा के सरकारी उच्च माध्यमिक विद्यालय को लेकर बताया जा रहा है कि इस स्कूल को कही और शिफ्ट किये जाने का प्लान किया गया था। बच्चे कम होने के कारण और स्कूल को कहीं और शिफ्ट करने से यह स्कूल बंद हो जाता। जिसके बाद स्कूल को बचाने के लिए करीब 43 छात्र और शिक्षकों ने रातभर पैदल चलकर कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु पहुंचे। और राज्य के सीएम से मिलने की दरखास्त की।

एनसीआर: प्री-मानसून ने दी दस्तक, गर्मी से मिली लोगों को राहत

 

पूरा मामले को लेकर स्थानीय लोगों ने बताया है कि अलाघट्टा में यह 24 साल पुराना सरकारी स्कूल है, जिसे अब यहां से 15 किमी दूर अन्य जगह स्थानांतरण किए जाने को कहा गया था। इसके बाद स्कूल बंद होने की बात पता चलते ही स्कूल शिक्षक और विद्यार्थियों ने मिलकर रात भर 250 किलोमीटर की यात्रा कर सीएम एचडी कुमारस्वामी से मुलाकात कर स्कूल को बचाने की गुहार लगाई। वहीँ 250 किलोमीटर दूर से छात्रों और शिक्षकों के पैदल आने की सूचना पर सीएम कुमारस्वामी ने तुरंत छात्रों और शिक्षकों से मुलाकात की।

सीएम ने दिया भरोसा    

JK: शुरू हुई अमरनाथ यात्रा, सुरक्षा में लगाए गये है ड्रोन

स्कूल बंद होने से बचाने के लिए सीएम से मिलने के लिए स्कूल ड्रेस कोड में पहुंचे 43 छात्रों को राज्य के सीएम ने न सिर्फ मुलाकात की, बल्कि उनका हाल चाल भी जाना। बताया जा रहा है छात्र सुबह पांच बजे बेंगलूरु के जेपी नगर स्थित सीएम हाउस पहुँच गये थे। उसके बाद सीएम कुमारस्वामी ने छात्रों से मुलाकात कर उन्हें आश्वासन दिया कि स्कूल बंद नहीं होगा। साथ ही उने वापस जानने की व्यवस्था भी करवाई।

यह भी देखे-

loading...