Breaking News
  • मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव गिरा, सरकार के पक्ष में 325 जबकि विपक्ष में पड़े 126 वोट
  • लंदन: महिला हॉकी विश्व कप के आगाजी मुकाबले में इंग्लैंड से भिड़ेगी भारतीय टीम
  • पुणे: 3 करोड़ के पुराने नोट जब्त, गिरफ्तार किए गए 5 लोगों में कांग्रेस पार्षद शामिल
  • मॉब लिंचिंग: अलवर में गोरक्षा के नाम पर अकबर नाम के शख्स की पीट-पीटकर हत्या

नजरबंदियों को पंजाब सरकार बांटेगी करोड़ों रुपए: जानिए क्या है मामला

चंडीगढ़: कभी सुना है कि किसी सरकार ने जेल की सजा काटने को लेकर जेल नजरबंदियों को मुआवजे के रूप में करोड़ों बांटे हों! लेकिन यह सत्य है। पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार जोधपुर की जेल के नजरबंदियों को मुवावजा देने जा रही है।

बतादें कि पंजाब में ऑपरेशन ब्लूस्टार के दौरान जोधपर की जेल में 300 के करीब लोगों को सुरक्षाबलों ने पकड़ कर अवैध तरीके से जेल में डाल दिया था। इनपर न कोई आरोप था और न इनके खिलाफ कोई सबूत था। लेकिन उसके बाद भी इन्हें जेल में नजरबंद करके रखा गया और यातनाएं दी गयी। जिसमें बाद 1989-91 में इन्हें अलग लग कर रिहा कर दिया गया है। निर्दोष होने के बाद भी जेल भेजे जाने को लेकर सभी ने कोर्ट का सहारा लिया और कोर्ट ने सरकार पर अवैध तरीके से जेल में डालने और शोषण करने के आरोप में सरकार पर मुआवाजा ठीक दिया था।

शर्मनाक: तलाशी के नाम पर गर्भवती महिला के उतरवाए कपड़े और दाब दिया पेट...

जिसके बाद ही अब पंजाब सरकार जोधपुर के नजरबंदियों को 4.5 करोड़ के मुआवज़े का चेक बांटने जा रही है। एक रिपोर्ट के अनुसार यह मुआवजा केंद्र और राज्य दोनों की आधा आधा देना है। इसको लेकर सीएम कैप्टन ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय गृह सचिव राजीव से बात कर कहा था कि अगर केंद्र सरकार मुआवजे का अपना हिस्सा नहीं देगी तो पंजाब सरकार ही पूरा मुआवजा अपने सिर लेकर पीड़ितों को देगी।

गुजरात बीजेपी में बड़ी कलह: दस विधायकों ने की बगावत, गिर सकती है सरकार!

हाल ही में अमृतसर जिला अदालत द्वारा मुआवज़ा दिए जाने के दिए गए आदेश दिया था। जिसके बाद अब वीरवार को राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह दोपहर 12 बजे पंजाब भवन में नजरबंदियों और उनकी परिजनों को मुआवाजे के चैक सौंपेंगे।

यह भी देखें-

loading...