Breaking News
  • फ्रांस: सूटवेल ऐथलेटिक्स मीट में भारत के भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा ने जीता गोल्ड
  • संसद का मानसून सत्र आज से होगा शुरू, 10 अगस्त तक चलने वाले सत्र में 18 बैठकें
  • ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी में 2 इमारतें गिरी- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जांच के दिए आदेश

सरकारी अध्यापकों के लिए जारी हुआ नया ड्रेस कोड, ऐसे दिखे तो...

चंडीगढ़: सरकारी स्कूलों में मनमाफिक कपड़े पहनकर जाने वाले शिक्षकों पर पंजाब सरकार ने कड़ा फैसला लिया है। राज्य के शिक्षा मंत्री ने आदेश जारी करते हुए कहा कि स्कूल में कोई शिक्षक या शिक्षिका फॉर्मल ड्रेस में ही आएंगे।

बतादें कि सरकारी स्कूली में बच्चों के लिए तो ड्रेस कोड होता है लेकिन सरकारी टीचर मनमर्जी से चलते है। ऐसे में जो टीचर स्कूल में पढ़ाने के लिए आते हैं उनको लेकर पंजाब की कैप्टन अमरिन्दर सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। दरअसल कई गाँव के स्कूलों में पढ़ाने के लिए आने वाले शिक्षक और शिक्षिकाओं की शिकायत की जा रही है कि वह स्कूल में जींस, पजालो, पायजामा सहित तरह तरह के फैंसी ड्रेस पहनकर बच्चों को पढ़ाने के लिए आते थे, लेकिन अब ऐसे गुरुजनों के लिए बुरी खबर है कि अब मर्जी मुताबिक कपड़े पहन कर स्कूल नहीं जा सकेंगे।

इस बड़ी सीट से मायावती लड़ेंगी लोकसभा चुनाव, बीजेपी की हवा टाईट!

राज्य के शिक्षा मंत्री ओपी सोनी ने सख्त फरमान जारी कर करते हुए आगाह किया है कि स्कूल में आने वाले शिक्षक फोर्मल ड्रेस में ही बच्चों को पढ़ाने के लिए आएंगे। जिसमें पैंट-कमीज शामिल है। मंत्री ने सख्त हिदायत देते हुए कहा है कि स्कूल में कुर्ता पायजामा या केजुअल फैंसी कपड़े पहन कर स्कूल न आयें। शिक्षा मंत्री ने कहा कि अध्यापक नई पीढ़ी के लिए रोल माडल हैं, इसलिए वह पैंट-कमीज में ही स्कूल जाएं न कि कुर्ते-पायजामे में। वहीँ महिला अध्यापकों के लिए भी स्कूल में ट्राऊज़र, पलाजो और लैगिंग आदि पर मनाही कर दी गयी है। महिला शिक्षिकाएं साड़ी या सूट पहन कर ही स्कूल जाएं।

जगन्नाथ यात्रा: गुजरात पुलिस का बड़ा फैसला, इजरायली उपकरण रहेगी नजर

मालूम हो कि दिल्ली को छोड़कर देश के सरकारी स्कूलों का हाल क्या है? मुश्किल को शिक्षक खुद की जाहिरी लगवाने को पहुंचता है तो दूसरी ओर शिक्षिकों की फैंसी ड्रेस की ब्च्चों की पढ़ाई में बाधा बन जाती है।

यह भी देखें-

loading...