Breaking News
  • पर्थ टेस्ट: ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 326 पर ऑल आउट, ईशांत शर्मा ने झटके 4 विकेट
  • JK: पुलवामा में सुरक्षाबल और आंतकियों के बीच, तीन आतंकी ढेर, दो जवान घायल
  • नेपाल: नुवाकोट जिले में हुए एक सड़क हादसे में 20 की मौत, 17 घायल

अब नहीं हो पाएगी पंजाब में ड्रग्स तस्करी, डीजीपी ने बनाया खतरनाक प्लान

चंडीगढ़: नशे की गिरफ्त में घिरते जा पंजाब को लेकर राज्य के डीजीपी ने कड़ा निर्णय लिया है। बताया गया है कि अब नशे का सामान मिलने या नशीले पदार्थों की तस्करी होने पर क्षेत्र पुलिस या तैनात अधिकारी जिम्मेदार होंगे।

बतादें कि पंजाब के पुलिस महानिदेशक सुरेश अरोड़ा ने राज्य में ड्रग्स समेत कई मादक पदार्थों की तस्करी के लिए अब सीधा स्थानीय प्रशासन पर जिम्मेदारी डाल दी है। दरअसल राज्य में नशे के कारोबार को बढ़ाने में पुलिस पर भी सवाल खड़ा हो रहा है। कई रिपोर्टों में इस बात का पता चला है कि पुलिस खुद नशा कारोबारिओं के संपर्क में रहती है। ऐसे में प्रदेश को नशा मुक्त बनाने का सपना टूटता नजर आ रहा है। जिसके बाद राज्य के पुलिस महानिदेशक ने बेहद ही सख्त कदम उठाया है।

टीपू सुल्तान के उत्तराधिकारी, जलील-ए-इलाही, सोफा-ए-शहंशाह, उस्ताद-ए-नौटंकी दिल्ली पधार चुके हैं...

यहाँ डीजीपी अरोरा ने कहा कि जिस इलाके में भी नशा तस्करी की गतिविधियां सामने आएंगी, उसके लिए संबंधित क्षेत्र के फील्ड अफसर जवाबदेह होंगे। दरअसल अरोरा नशे पर लगाम लगाने वाले अपने फील्ड अफसरों को दिशा निर्देश जारी कर रहे थे। उसी दौरान उन्होंने कह बात कही है। इस दौरान पंजाब पुलिस अकादमी में राज्य के एसएसपी/सीपी, रेंज आईजी/डीआईजी और अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों भी मौजूद रहे।

महाराष्ट्र: विकासशील भारत की दिल दहला देने वाली तस्वीर...

राज्य में कानून व्यवस्था के साथ साथ नशीले पदार्शों की तस्करी भी बड़ा मुद्दा बन हुआ है। राज्य को नशे के कारोबार ने ऐसा घेर रखा है कि अब चुनाव में भी यह प्रमुख मुद्दा बन रहा है। पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी राज्य को नशा मुक्त बनाने की बात कहकर सत्ता में आई थी। लेकिन उसकी कोशिशें नाकाम हो रहीं हैं। क्योंकि यहाँ नशे का सामान तस्करी करवाने में अंदर के ही लोग शामिल रहते हैं। कई बड़े नेताओं सहित पुलिस विभाग के कुछ अधिकारियों के भी नशे के कारोबार को सह देने का आरोप लग चुका है।

यह भी देखें-

loading...