Breaking News
  • कानपुर और कानपुर देहात में ज़हरीली शराब पीने से 9 लोगों की मौत, 18 की हालत गंभीर
  • छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा नक्सली हमले में 6 पुलिसकर्मी शहीद, 1 घायल
  • रूस दौरे पर रवाना हुए पीएम मोदी, रूसी राष्ट्रपति के साथ अनौपचारिक बैठक

RSS की किताब में सिख गुरु के लिए लिए ‘गंदी’ बात, समुदाय का भड़का गुस्सा

चंडीगढ़: पंजाब में सिख समुदाय ने आरएसएस का बड़ा विरोध करते हुए उसके श्री भारती प्रकाशन द्वारा छापी गयी एक पुस्कत पर घोर आपत्ति जताई है। आरएसएस द्वारा की गयी पुस्कत में हरकत को लेकर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी ने आरएसएस को चेतवानी देते हुए माफी मांगने को कहा है।

बतादें कि शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी ने आरोप लगाया है कि आरएसएस के मुख्यालय केंद्र नागपुर से श्री भारती प्रकाशन की ओर से जारी किताबों में सिख गुरु साहिबान को लेकर गलत और तथ्यों से परे जानकारी दी गयी है। जिससे समाज में भ्रम पैदा हो जाए। प्रकाशक की इस करतूत पर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी ने उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी दी है। बताया गया है कि श्री भारती प्रकाशन द्वारा जारी एक पुस्तक में सिख गुरु साहिबान को हिन्दू बताया गया था।

कैबिनेट बैठक: नोएडा वासियों को केंद्र सरकार की बड़ी सौगात

साथ ही उनको लेकर भ्रामक और तोड़ मरोड़ कर जानकरी को पेश किया गया था। जिसको लेकर यहाँ सिख समुदाय के लोगों ने नाराजगी जाहिर करते हुए प्रकाशक से यह पुस्तक तत्काल वापस लेने की मांग की है। अमृतसर में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान भाई गोबिन्द सिंह लौंगोवाल ने आरएसएस और उकसे प्रकाशक पर कानूनी कार्रवाई करने की मांग करते हुए कहा है कि केंद्र और महाराष्ट्र सरकार से अपील की है कि वह इसपर एक्शन ले।

बड़ी खबर: कर्नाटक कांग्रेस के 12 विधायक बीजेपी में शामिल?

जिससे गलत इतिहास को समाज में फैलने से रोका जा सके। कमेटी के ओर से कहा गया है कि, आरएसएस को इस घिनौनी हरकतों से बाज आना चाहिए। उन्होंने कहा कि आरएसएस हर किसी के इतिहात को तोड़ मरोड़ कर हिंदुत्व की ओर ले जाता  है। जोकि बहुत ही शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि, सिख एक अलग कौम है, इसका इतिहास निराला और विलक्षण है। इसके इतिहास के साथ छेडछाड करने की कोशिश बंद होनी चाहिए।

यह भी देखें-

loading...