Breaking News
  • आज देश मना रहा है कि 47वां विजय दिवस
  • यूपी: रायबरेली दौरे पर पीएम मोदी, आधुनिक कोच फैक्ट्रीे का किया निरीक्षण
  • एमएनएफ अध्यक्ष ज़ोरामथंगा बने मिजोरम के नए मुख्यमंत्री

रेप की घटनाओं पर कैप्टन सरकार का बड़ा फैसला, रेपिस्ट को होगी खौफनाक सजा

चंडीगढ़: देशभर में महिलाओं पर बढ़े यौन हिंसा के अपराधों और दुनियाभर में भारत को महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित और खतरनाक देश माने जाने की रिपोर्ट आने के बाद महिला सुरक्षा पर बड़ा सवाल खड़ा हुआ है। इसी बीच पंजाब सरकार बच्चियों से रेप के मामलों को लेकर के बड़ा फैसला लिया है।

बतादें कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की अगुवाई में हुई कैबिनेट की मीटिंग में कई बड़े फैसले लिए गये हैं। जिसमें रेप जैसे जघन्य अपराध के लिए रेपिस्ट के गले में फांसी का फंदा पड़ जाएगा। कैबिनेट की हुई बैठक में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने बच्चियों से दुष्कर्म के मामले में बड़ा फ़ैसला लेते हुए 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के रेपिस्ट को सजा-ए-मौत और 16 साल की लड़की के रेप के आरोपी को उम्रकैद की सजा देने का प्रावधान किया है। वहीँ कैबिनेट ने पंजाब राज्य विधानमंडल अधिनियम 1952 में संशोधन को मंजूरी भी दे दी है। इसके अलावा मुख्यमंत्री कैप्टन ने कहा कि बलात्कार के मामले 6 महीनों के अंदर ख़त्म होने चाहिए और इन मामलों की जांच 2 महीनों के अंदर हो जानी चाहिए। जिससे रेप करने वालों के खिलाफ सख्त सन्देश जाए और समाज से ऐसे दरिंदों का खात्मा हो सके।

प्राइवेट टैक्सी को बोलो बाय बाय, क्योंकि सरकार ला रही है अपनी मोबाइल टैक्सी?

मालूम हो कि केंद्र ने अप्रैल माह आपराधिक कानून संशोधन अध्यादेश में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी), साक्ष्य कानून, आपराधिक प्रक्रिया संहिता और बाल यौन अपराध संरक्षण कानून (पोक्सो) में संशोधन को मंजूरी देते हुए 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से बलात्कार के मामलों में दोषियों को मृत्युदंड सहित सख्त सजा के प्रावधान के लिए अध्यादेश आई थी।

खुशखबरी: इन पांच नये शहरों में दौड़ेगी मेट्रो, केंद्र ने दे दी है मंजूरी

जिसे राष्ट्रपति ने बिना देर किये मंजूर कर लिया है। पिछले कुछ सालों से देशभर में रेप की महिलाओं के प्रति अपराध के मामले बढ़े हुए हैं। ऐसे में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है? हालिया एक आई रिपोर्ट में महिलाओं के लिए भारत को दुनिया का सबसे खतरनाक और असुरक्षित देश माना गया है।

यह भी देखें-

loading...