Breaking News
  • आज देश मना रहा है कि 47वां विजय दिवस
  • यूपी: रायबरेली दौरे पर पीएम मोदी, आधुनिक कोच फैक्ट्रीे का किया निरीक्षण
  • एमएनएफ अध्यक्ष ज़ोरामथंगा बने मिजोरम के नए मुख्यमंत्री

पंजाब: इस 'आतंक' के कारण चंडीगढ़ में रोकी गई हवाई सेवाएं?

चंडीगढ़: दिल्ली एनसीआर में आसमान में छाई धूल की चादर से जहाँ साँस लेना भी मुश्किल हो रहा है। वहीँ चंडीगढ़ में हालात इससे भी ज्यादा खराब रहे हैं। यहाँ लगातार तीसरे दिन आसमान में धूल की चादर के कारण उड़ान सेवाएं प्रभावित रहीं।

बतादें कि राजस्थान की ओर से आया धूल का गुबार दिल्ली एनसीआर सहित पंजाब को भी अपनी गिरफ्त में ले चुका है। जहाँ दिल्ली एनसीआर में धूल के कारण बढ़े प्रदूषण से सांस लेना  मुश्किल हो रहा है, वहीँ चंडीगढ़ में आसमान में जमी धूल की चादर के कारण उड़ान सेवाएं भी बाधित हो गयीं हैं। राज्य में तीसरे दिन भी धूल की चादर के कारण चंडीगढ़ हवाई अड्डे पर विजिबिलिटी बहुत कम रही। जिससे 26 उड़ाने प्रभावित हुई है। पंजाब के लुधियाना में इस समय एयर क्वालिटी इंडैक्स 493 दर्ज किया गया है, जोकि सामान्य के मुकाबले बहुत ज्यादा है। इससे पहले बुधवार और गुरुवार को हवाई अड्डे पर सुबह से ही कम विजिबिलिटी के कारण उड़ानें प्रभावित रही। इस दौरान चंडीगढ़ में टेक ऑफ़ और लैंडिंग नहीं हो सकी। वहीँ तीसरे दिन में यही हालत रहे। जिससे यात्रियों को काफी मुसीबत से जूझना पड़ा।

मंदसौर गोलीकांड पर आई रिपोर्ट: हकीकत जान खिसक जाएगी पैरों तले की जमीन

जहाँ एक और हवाई सेवाएँ प्रभावित हो रही हैं, वहीँ हवा में बढी धूल की मात्रा से लोगों को सांस लेने में भी तकलीफ हो रही है। शुक्रवार को दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण जांच वाली मशीनों तक के खराब होने की खबर आई थी। पिछले दिनों राजस्थान से तेज आंधी से उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा और पंजाब में आसमान में धूल ही धूल छा गयी है।

तो क्या पढ़ाते वक्त भी शराब के नशे में रहते हैं गुजराती शिक्षक?

जिससे ऐसे हालात बने हुए हैं। जिसको देखते हुए केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने प्रदूषण के स्तर और आसमान में धूल के गुबार के कारण दिल्ली एनसीआर में सभी तरह के निर्माण कार्यों पर रोक लगा दी है। साथ ही यह रोक हालात सामान्य होने तक रोक लगी रहेगी। वहीँ अगर आसमान से धूल का गुबार खत्म न हुआ तो फायर ब्रिगेड से पानी का छिड़काव होगा और मशीनों से दिल्ली की सड़कों की सफ़ाई होगी।

यह भी देखें-

loading...