Breaking News
  • एशियाई खेलः बजरंग पुनिया जीता पहला गोल्ड मेडल, किया दिवंगत अजट जी को समर्पित
  • एशियाई खेलः 10 मी. एयर राइफल में दीपक कुमार ने जीता रजत पदक
  • कर्नाटक के कई तटीय जिले बाढ़ की चपेट में, बचाव एवं राहत अभियान जारी

तलाक लेने या देने में मदद करेगा यह मोबाइल ऐप!

भारत में पिछले काफी समय तक तलाक के मसले पर चली कानूनी लड़ाई के बाद मुस्लिम महिलाओं को सरकार ने अहम अधिकार दिए हैं, वहीं आज आपको एक ऐसी खबर बता रहे हैं, जिसमें तलाक लेने में मोबाइल एप आपकी मदद करेगा। हालांकि यह सुविधा फिलहाल भारत में नहीं बल्कि चीन में शुरु किया गया। लेकिन जिस तरह से चीनी टेक्नोलॉजी का भारत में दबदबा दिखता है उससे इस बात में भी संदेह नहीं कि ये सुविधा भारत में शुरू की जा सकती है!

इससे पहले आपको बता दें कि चीन में लोगों के बीच चर्चित मैसेजिंग ऐप वीचैट लोगों की जीवन का एक अहम हिस्सा माना जाता है, जहां कई ऐसे लोग हैं जो इस ऐप के साथ जुड़ कर अपने काम को आसान बनाते हैं। इस ऐप की मदद से यहां के लोग बिलों का भुगतान करने और न्यूज पढ़ने के साथ-साथ अन्य कई तरह की जानकारी भी प्राप्त करते हैं।

बंपर डिस्काउंट ऑफर के साथ इन कारों पर मिल रही है 1 लाख तक की छूट

वहीं अब इस ऐप के साथ एक और नया फीचर्स जोड़ दिया गया है, जो लोगों को तलाक लेने में मदद करेगा। खबरों के अनुसार, यह सुनिधा ऐप के 'सार्वजनिक सेवाओं' वाले सेक्शन में जोड़ा गया है, जहां आपको अब 'विवाह' सेक्शन में 'विवाह पंजीकरण' के साथ 'तलाक पंजीकरण' का विकल्प भी मिलेगा। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, टूल गुआंग्डोंग प्रांत में सार्वजनिक सेवाओं के लिए पिछले सप्ताह घोषित की गई एक मिनी कार्यक्रम में इसे शुरू किया गया है।

पतंजलि के ‘शुद्ध देसी’ मैसेजिंग ऐप पर टूट पड़े लोग, अब हुई ऐसी हालत

हालांकि फिलहाल यह पूरी तरहह से साफ नहीं हो सका है कि बीजिंग में अधिकारी अन्य क्षेत्रों में इस सेवा का विस्तार करते हैं या नहीं। गौर हो कि यहां चीन के अन्य शहरों के मुकाबले तलाक दर अधिक है। एक रिपोर्ट के अनुसार, बीजिंग में तलाक की दर 39 प्रतिशत है, जबकि शंघाई में 38 प्रतिशत और शेन्ज़ेन में 36 प्रतिशत है। बताया जाता है कि यहां साल 2006 से 2016 के बीच तलाक दर में काफी बढ़ोतरी हुई है।

इस महिला के कारण मेघायल की सत्ता से बेदखल हो सकती है BJP

loading...