Breaking News
  • काले धन पर और बड़ा प्रहार, 2.25 लाख कंपनियों को मोदी सरकार का नोटिस
  • दिल्ली: आज क्राइम ब्रांच के सामने पेश हो सकता है रेप का आरोपी दाती महाराज
  • जापान के ओसाका में रिक्टर पैमाने पर 6.1 तीव्रता के भूकंप में तीन लोगों की मौत

देखिए गर्मी की चौका देने वाली तस्वीरें और भयंकर तापमान का पूरा सच, कैसी है लोगो की हालत!

भारत समेत दुनिया के कई देशों में आसमान से आग जैसी गर्मी बरस रही है, जिसने लोगों का जिना हराम कर रखा है। इसके कई नमूने सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे है। इस बीच सोशल मीडिया पर कुछ ऐसे वीडियो भी वायरल हो रहे हैं, जिसे देखने के बाद भी यकीन कर पना मुश्किल है, लेकिन कुछ वीडियोज और फुटेज के हवाले से जैसे दावे किए जा रहे हैं वो बेहद ही चैकाने वाले हैं।

दरअसल यहां आप चार तस्वीरें देख रहे हैं, जिसके हवाले से दावा किया जा रहा है कि ये कुवैत का है, जहां गर्मी का सितम 62 डिग्री सेल्सीयस तक पहुंच चुका है। जिसके कारण सड़क किराने पेड़ों पर आग लग रही है, यहीं नहीं तस्वीरों के हावाले से दावा किया जा रहा है कि कुवैत में इस कदर गर्मी पड़ रही है ट्रैफिल लाइट पर लगे सिगनल भी गल कर गिर रहे हैं।

दुनिया के सबसे उम्रदराज पीएम के साथ ऐसी रही मोदी की मुलाकात, देखिए तस्वीरें

source

आपको बता दें कि ऐसी तस्वीरें पिछले काफी दिनों से सोशल मीडिया पर चर्चा में छाई हुई है। लेकिन आपको कम शब्दों में बता दें कि ये सारी तस्वीरें फेक हैं और ये बात भी पूर्ण तौर पर गलत है कि कुवैत में पारा 62 डिग्री सेल्सीयस के पार जा चुका है। आपको बता दें कि अगर आप वहां के मौसम विभाग की जानकारी प्राप्त करते हैं तो इस पूरे मामले की सच्चाई आपके सामने मौजूद होगी।

टीवी पर ऐसी हरकत करने की वजह से बर्बाद हुआ इन सितारों का करियर

आपको बता दें कि कुवैत में इस साल 62 डिग्री तो क्या पारा 50 डिग्री के पार भी नहीं पहुंची है, हां लेकिन इतना जरूर है कि मार्च से मई के बीच यहां का तापमान 45 डिग्री तर दर्ज किए गए है। ऐसे में अगर आप कुवैत के इतिहास में भी झांकते हैं तो पता चलता है कि यहां अब तक कभी भी तापमान 62 डिग्री नहीं पहुंचा है। अगर आप कुवैत के इतिहास में सभे अधिक तापमान की बात करते हैं तो यहां अधिकतम तापमान 52 डिग्री तर ही रहा है।

क्या से क्या बन गई यह एक्ट्रेस, चेहर देखकर हैरान रह जाएंगे!

अब सवाल है कि आखिर सड़क किराने लगे इन पेड़ों पर गर्मी के कारण आग नहीं लगी है तो आखिरी आग लगी कैसे, क्या किसी ने इसके उपर चढ़ कर आग लगा दिए। जी नहीं इस बात की सच्चाई है कि ये तस्वीर कुवैत का है ही नहीं, ये तस्वीर सउदी अरह के शहर मदीना का है, और खजूर पेड़ पर लगी आग किसी ने लगाई नहीं बल्कि बिजली गिरने के कारण लगीं है। इसी तरह से ये सारे तस्वीक महज अफवाह का एक हिस्सा हैं।

loading...