Breaking News
  • भ्रष्टाचार के आरोपों पर पहली बार बोले केजरीवाल- मेरे पास सिर्फ ईमानदारी का हथियार
  • गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कश्मीर की समस्या का स्थायी समाधान हो रहा है
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज से 2 दिनों के गुजरात यात्रा पर
  • IPL 10: पुणे को हराकर मुंबई बना चैंपियन- MI-129/8, Pune-128/6
  • यूपी: कन्नौज जेल में कैदियों-जेल प्रशासन के बीच संघर्ष, दो डिप्टी जेलर की हालत गंभीर

यह है LADY कुंभकर्ण, जो सिर्फ 6 महीने सोती है...


NEW DELHI:- कुंभकर्ण से आप अच्छे से वाकिफ होंगे कुंभकर्ण बल के लिए जाना ही जाता था, लेकिन वो 6 महीने सोने के लिए प्रसिद्ध था। लेकिन इस कलयुग में ऐसा होना संभव नजर नहीं आता लेकिन एक लड़की है जो कुंभकर्ण की तरह 6 महीने तक सोती है।

जी हां इस लड़की का नाम है बेथ है और इसे SLEEPING BEAUTY SYNDROME है, एक दिन वो सोई और फिर 6 महीने तक नहीं उठी। इस बीमारी से जूझते हुए उसे पांच साल होने को आ रहे हैं। उस दिन के बाद से उसके सभी सपने भी सो गए। न वो कॉलेज जा सकी और न चाइल्ड साइकोलॉजिस्ट बन सकी।

अगर बेथ को ये बीमारी न हुई होती, तो अब तक वो यूनिवर्सिटी से डिग्री ले चुकी होती और चाइल्ड साइकोलॉजिस्ट बनने की ट्रेनिंग ले रही होती। जब उसे ये बीमारी हुई, तब वो मात्र 17 साल की थी। ये वो उम्र है, जब इंसान अपनी ज़िन्दगी को दिशा दे रहा होता है। आज आलम ये है कि वो 22 घंटे सोती रहती है, थोड़ा बहुत होश आता है। तो खाने-पीने और बाथरूम जाने जैसे ज़रूरी काम कर पाती है।

बेथ की मां Janine बताती हैं कि बीमारी होने के बाद से बेथ 75 प्रतिशत समय सोती रही है। अब बेथ 22 साल की हो चुकी है। वो ब्रिटेन के उन 100 युवाओं में से एक है, जो इस गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। इसे KLEINE-LEVIN SYNDROME (KLS) भी कहा जाता है। इस बीमरी के कारणों और इलाज के बारे में डॉक्टर्स भी अभी ज़्यादा नहीं जान पाए हैं। ज़्यादातर टीनेजर्स ही इसकी चपेट में आते हैं। एक बार जब इस बीमारी के कारण इंसान सोता है, तो आप कुछ भी कर के उसे जगा नहीं सकते हैं।

बेथ की मां बस हर दिन ये ही आस लगाये रहती हैं कि शायद आज उनकी बेटी उठ जाये। उसकी देखभाल के लिए वो अपनी नौकरी भी छोड़ चुकी हैं। जब वो जागती है, तो अपनी ज़िन्दगी के उस थोड़े से समय में ही सबकुछ जी लेने की कोशिश करती है। अब तक वो अपने कई जन्मदिन सोते हुए गुज़ार चुकी है. वो अपनी पढ़ाई पूरी करना चाहती है, पर इस बीमारी ने मानो उसे लाचार बना दिया है। जब वो उठती है, और देखती है कि उसके सभी साथी आगे बढ़ गए हैं, तो उसे अपने लिए बहुत दुःख होता है। 

loading...