Breaking News
  • राजकीय सम्मान के साथ मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार
  • प्रयागराज से वाराणसी तक बोट यात्रा कर रही हैं प्रियंका गांधी
  • बोट यात्रा से पहले प्रियंका ने किया गंगा पूजन, देश का उत्थान और शांति मांगी
  • कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का अयोध्या दौरा रद्द
  • लोकसभा चुनाव के दूसरे दौर के लिए नामांकन दाखिल करने का आज आखिरी दिन
  • छत्तीसगढ़: सुकमा में सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में चार नक्सलियों को किया ढेर, भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद
  • बीजेपी की स्टार प्रचारकों की लिस्ट से आडवाणी और जोशी का नाम गायब
  • बीजेपी की स्टार प्रचारकों की लिस्ट से आडवाणी और जोशी का नाम गायब

भारत का एक ऐसा मंदिर, जहां प्रसाद में बांटी जाती है मटन बिरयानी

नई दिल्ली: आम तौर पर पूजा-पाठ में मांसाहार वर्जित माना जाता है। लेकिन आज आपको एक ऐसी खबर बता रहे हैं, जिसे जानकर आपके होश उड़ सकते हैं। दरअसल, एक ओर पूजा-पाठ में मांसाहार वर्जित माना जाता है वहीं तमिलनाडु में एक ऐसा मंदिर है जहां प्रसाद के तौर पर मटन बिरयानी बांटी जाती है।

यह मंदिर तमिलनाडु के मदुरै में वड़क्कमपट्टी गांव में है। जहां साल 1937 से प्रसाद के तौर पर लोगों को बिरयानी खिलाई जाती है। बताया जाता है कि ये बिरयानी मुनियांदी होटल मंदिर में खिलाता है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस गांव के स्थानिय देवता मुनियांदी के नाम पर गुरुसामी नायडू ने मुनियांदी होटल की शुरुआत की थी।

PM के घर पर जारी है उच्च स्तरीय बैठक, इससे पहले जेटली ने दिया बड़ा बयान…

इसके बाद मुनियांदी नाम से एक के बाद एक अन्य कई लोगों ने भी होटल खोले और ये सभी होटल वाले अपने ग्राहकों को स्वादिष्ट नॉन वेज खिलाने के लिए खास तौर पर मशहूर हैं। खबरों के अनुसार, हाल के दिनों में पूरे दक्षिण भारत में करीब 1500 मुनियांदी होटल खुल चुके हैं।

हेलीकॉप्टर दुर्घटना में पर्यटन मंत्री समेत 5 की मौत 

होटलों के मालिक दो दिवसीय मुनियांदी फेस्टिवल में हर साल एक साथ जुटते हैं और यहां प्रसाद में मटन बिरयानी बांटते हैं। दावा किया जाता है कि ऐसा कर सभी दुकानदार अपने कुल देवता मुनियांदी को अपनी सफलता के लिए धन्यवाद देते हैं। इस फेस्टिवल का आयोजन हर साल किया जता है, जिसमें हजारों की संख्या में लोग शामिल होते हैं और मटन बिरयानी का आनंद लेते हैं।

वायुसेना के एयर स्ट्राइक के बाद भारत-पाक सीमा पर जंग, पाकिस्तान को भारी नुकसान

loading...