Breaking News
  • एयर इंडिया की याचिका पर SC का आदेश, 10 दिन बाद न करें मिडिल सीट के लिए बुकिंग
  • देश में कोरोना मरीजों की संख्या 1.39 लाख के करीब, अब तक 4021 की मौत
  • दिल्ली : भीषण गर्मी को लेकर मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट
  • भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान बलबीर सिंह सीनियर का 96 वर्ष की उम्र में निधन
  • कश्मीर के कुलगाम में मुठभेड़ जारी, एक आतंकी ढेर, एक के छिपे होने की संभावना

जब पाद के कारण रोकनी पड़ी संसद की कार्यवाही

नोएडा: भारत हो या दुनिया का कोई भी लोकतांत्रिक देश, सभी देशों की संसद में पक्ष-विपक्ष के बीच कई मुद्दों पर हंगामे होते रहे हैं। जिसके कारण कई बार सदन की कार्यवाही तक स्थगित करनी पड़ी है। लेकिन केन्या की एक असेंबली में जो हुआ वह बेहद ही हैरान करने वाला है। यहां के होमा बे काउंटी असेंबली की कार्यवाही हंगामे के कारण नहीं बल्कि किसी सदस्य के पाद के कारण कार्यवाही रोकनी पड़ी।

कहते हैं इस दौरान सदन में काफी गर्मी थी। संसद सदस्य कागजों से हवा करते हुए बहस में जुटे थे। तभी अचानक से वहां दुर्गंध फैल गई। नाक दबाए सदस्य एक दूसरे पर आरोप लगाने लगे कि उन्होंने पाद मारकर बदबू फैला दी। एक सदस्य जूलियस गाया ने तो स्पीकर से कहा कि हममें से किसी ने फीजा को प्रदूषित कर दिया है।

जिसके बाद स्पीकर एडविन काकाछ ने सदन की कार्यवाही 10 मिनट के लिए रोक दिया और सदस्यों से बाहर जाने को कहा। साथ ही स्पीकर ने संसद कर्मचारियों से कहा कि जल्दी से रूम फ्रेशनर का छिड़काव कर संसद की आवोहवा को दुरुस्त करें। स्पीकर ने कहा कि जो भी फ्लेवर मिले, स्ट्रॉबेरी या वनीला, जल्दी लाया जाए। इसके बाद पुन: सदन की कार्रवाई शुरू हो सकी।

loading...