Breaking News
  • कोलकाता में ममता की महारैली में जुटा मोदी विरोधी मोर्चा, केजरीवाल, अखिलेश समेत 20 दिग्गज नेता
  • रूसी तट के पास गैस से भरे 2 पोत में आग लगने से 11 की मौत, 15 भारतीय भी थे सवार
  • जम्मू-कश्मीर: भारी बर्फबारी के बीच सुरक्षाबलों का ऑपरेशन ऑल आउट, 24 घंटे में 5 आतंकी ढेर
  • वाराणसी: 15वे प्रवासी सम्मेलन में पीएम मोदी, लोग पहले कहते थे कि भारत बदल नहीं सकता. हमने इस सोच को ही बदल डाला
  • नेपाल ने लगाया 2000, 500 और 200 रुपए के भारतीय नोटों पर बैन

इनसाइड स्टोरी: विवादों से भरा है ‘आप’ की अलका लंबा का बैकग्राउंड!

नई दिल्ली: दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लंबा एक बार फिर से चर्चा में हैं। लांबा की ये नई चर्चा उनके उस रूख को लेकर हो रही है जो उन्होंने पार्टी के खिलाफ किया है। दरअसल, अलका लांबा ने एक ऐसा ट्वीट किया जिसने आम आदमी पार्टी का चेहरा पूरी तरह से बेनकाब कर दिया।

अपने ट्वीट में लांबा ने कहा कि, “दिल्ली विधानसभा में प्रस्ताव लाया गया की पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी जी को दिया गया भारत रत्न वापस लिया जाना चाहिये, मुझे मेरे भाषण में इसका समर्थन करने को कहा गया,जो मुझे मंजूर नही था, मैंने सदन से वॉक आउट किया। अब इसकी जो सज़ा मिलेगी,मैं उसके लिये तैयार हूं”।

पूर्व पीएम राजीव गांधी के भारत रत्न छीन लिया जाए?

हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब अलका लांबा देश भर में और खासकर दिल्ली की सियासत में चर्चा का केंद्र बनी हैं। इससे इतर उनका निजी जीवन भी समान्य नहीं है। यहां आपको अलका से जुड़ी कुछ खास बातें बता रहे हैं। सबसे पहले बता दें कि अलका लांबा का जनम 21 सितम्बर 1971 में अमरनाथ लाम्बा और राजनाथ लाम्बा की बेटी हैं।

उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल से पूरा करने के बाद उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के दयाल सिंह कॉलेज व सेंट स्टेफन कॉलेज से अपनी एमएससी और एमएड की पढाई पूरी की। इसके बाद उन्होंने 1994 में अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत की, इस दौरान वह बीएससी सेकेंड इयर की छात्रा थीं जब एनएसयूआई में शामिल हुईं।

‘मम्मी मैं आपको ये सब बता नहीं सकती, इसलिए जा रही हूं’ कह कर मौत के गल…

इसके बाद वह दिल्ली यूनिवर्सिटी स्टुडंट्स यूनियन का चुनाव जीतकर अध्यक्ष बनी और फिर 2002 में उन्हें अखिल भारतीय महिला कांग्रेस के महासचिव बनीं। साल 2006 में उन्हें अखिल भारतीय कांग्रेस समिति का सदस्य बना दिया गया और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव नियुक्त किया गया। जबकि 16 जुलाई 2012 को राष्ट्रीय महिला आयोग का भी प्रतिनिधित्व भी किया।

करीब 20 साल तक कांग्रेस के साथ रहने के बाद वह २६ दिसम्बर 2013 में अरविंद केजरीवाल की पार्टी आप पार्टी ज्वाइन करली। इसके बाद फरवरी 2015 में दिल्ली के चांदनी चौक विधानसभा छेत्र से चुवनाव जीतकर विधायक बनी है। अक्सर अपने बेवाक बयानों को लेकर सुर्खियों में बने रहने वाली अलका लांबा के साथ कई तरह के विवाद भी जुड़े।

सौतेली मां के साथ बेटे का अवैध संबंध, बेटी पैदा होने के बाद हुआ खौफनाक…

आपको बता दें कि अलका लांबा ने लोकेश कपूर से शादी की थी लेकिन कुछ साल बाद ही दोनों अलग हो गए। साल 2003 में उनके पति लोकेश कपूर ने आरोप लगाया कि अलका ने उनके सुभाष नगर के मकान को अवैध तरीके से कब्‍जा कर अपना राजनीति‍क दफ्तर वहां पर शुरू कर दि‍या है। लांबा के पति लोकेश ने आरोप लगाया था कि जब वो साथ रहते थे तब अलका ने उनके परि‍वार को काफी पेरशान कि‍या और उन्हें यातनाएं भी देती थी।

वहीं अलका लांबा साल 2012 में उस समय काफा चर्चा में आई जब उन्‍होंने गुवाहाटी छेड़छाड़ मामले में पीड़ि‍त युवती का नाम सार्वजनि‍क कर दि‍या था। साल 2015 में  अलका लांबा पर एक और आरोप लगा। नौ अगस्त 2015 को उन्होंने कुछ अन्य लोगों के साथ भाजपा विधायक ओपी शर्मा की दुकान में जबरन प्रवेश किया वहां तोड़फोड़ मचा दिया।

पिछले दिनों अलका लांबा और पूर्व 'आप'  विधायक विनोद कुमार बिन्नी के बीच सोशल नेटवर्किंग साइट पर किए गए एक पोस्ट को लेकर भारी विवाद हुआ। इस पोस्ट में शिकायतकर्ता अलका लांबा पर अवैध रैकेट चलाने का आरोप लगा। लांबा की शिकायत पर क्राइम ब्रांच की साइबर सेल ने मामला भी दर्ज किया था।

इन सभी मामलों के बीच सोशल मीडिया पर अलका लांबा की एक तस्वीर वायरल हुई थी, जिसमें वह सहारा प्रमुख सुब्रतराय सहारा के साथ दिखी थीं। लांबा और सहरा की इस तस्वीर की काफी चर्चा हुई थी।

हाल के दिनों में अलका लांबा की चर्चा इस बात को लेकर हो रही है कि उन्होंने पूर्व पीएम से भारत लिए जाने के खिलाफ आवाजा उठाई। इस बीच खबर आई कि लाबां के बायन से पार्टी को नुकसान पहुंचा है, जिसके कारण पार्टी ने उनसे इस्तीफा मांगा है, लेकिन दिल्ली उप मुख्यमंत्री और आप पार्टी में मुख्या केजरिवाल के बाद दूसरे सबसे बड़े नेता मनीष सिसोदिया ने साफ कर दिया है कि लांबा से इस्तीफा नहीं मांगा गया है।

loading...