Breaking News
  • काले धन पर और बड़ा प्रहार, 2.25 लाख कंपनियों को मोदी सरकार का नोटिस
  • दिल्ली: आज क्राइम ब्रांच के सामने पेश हो सकता है रेप का आरोपी दाती महाराज
  • जापान के ओसाका में रिक्टर पैमाने पर 6.1 तीव्रता के भूकंप में तीन लोगों की मौत

सबसे अनोखी परंपरा: भारत के इस गांव में दूल्हन भी भरती है दूल्हे की मांग

देश हो या विदेश शादी सभी जगहों पर होती है, लेकिन अलग-अलग जगहों के अनुसार शादी की परंपरा बदल जाती है। ऐसे में अगर भारत में हिंदू धर्म की शादी की परंपरा की बात करें तो यहां दूल्हा दुल्हन की मांग भरता है और फिर इन दोनों के बीच पति पत्नी का रिश्ता अलगे सात जन्मों के लिए जुड़ जाता है।

वहीं आज शादी की एक परंपरा के बारे में बता रहे हैं, जहां सिर्फ दूल्हा दुल्हन की मांग में ही सिंदूर नहीं भरता बल्कि दुल्हन भी दूल्हे की मांग में सिंदूर भरती हैं। यहां परंपरा का पालन किसी दूसरे देश में नहीं बल्कि भारत के ही एक राज्य छ्त्तीसगढ़ में किया जाता है।

यहां सुदूर वनाचल जशपुर जिले के बसी उरांव जनजाति में शादी के दौरान दुल्हा-दुल्हन दोनों एक-दूसरे की मांग में सिंदूर भरते हैं। इस परंपरा को लेकर यहां के लोगों का मानना है कि ऐसा इसलिए किया जाता है कि ताकि पति-पत्नी को वैवाहिक रिश्तों में बराबरी के दर्जे का एहसास हो। आपको बता दें कि यहां शादी से जुड़ी कई ऐसी बाते हैं जिसे शायद आप पहली बार जान रहे हैं।

आपको बता दें कि परंपरा के अनुसार, शादी के दौरान दूल्हा और दुल्हन पक्ष के लोग घर के आसपास के बगीचे में निमंत्रण का इंतजार करते है, इसी बीच दुल्हन के रिश्तेदार दुल्हे को कंधे पर बैठाकर मंडप तक ले जाते हैं जहां सिंदूर की रस्म पूरी होती है। इस परंपरा में दुल्हन का भाई अहम भूमिका निभाता है, जो बहन की अंगुली पकड़ कर दुल्हे की मांग में सिंदूर भरवाता है।

गौर हो कि इस दौरान दुल्हन के पास यह अधिकार नहीं होता है कि वह दूल्हें को देख भी सके और सिंदूर भी पीछे की ओर से भरना होता है, जिसमें दुल्हन का भाई बड़ी अहम भूमिका निभाता है। बताया जाता हैं कि इस परंपरा के तहत दूल्हा-दूल्हन एक दूसरे को दो से तीन बार मांग भरते हैं।

सस्ते दाम में पेट्रोल और डीजल लेने के 5 आसान तरीके

मर्द के नाम पर कलंक हैं ये लोग, होटल में नाबालिग के साथ जो किया...

शहीद पिता के सामने बेटी ने जो किया, उसे देख पूरे देश में पसरा सन्नाटा!

loading...