Breaking News
  • गुजरात: 44 बिल्डर्स और फाइनेंसरों के कई ठिकानों पर आयकर विभाग के छापे
  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की वार्षिक समीक्षा बैठक में वित्त मंत्री, कर्ज देने की प्रक्रिया को ईमानदार बनाएं बैंक
  • उत्तर भारत में मौसम का कहर जारी, हिमाचल में 3 की मौत, बादल फटने से मची तबाही
  • भारत-पाक विदेश मंत्रियों की वार्ता रद्द होने के बाद सार्क बैठक पर संकट

जिंदा पत्नी को पति ने गोबर में दबाया, मौत का पूरा सच जानकर हैरान रह जाएंगे

बुलंदशहर: दुनिया आय दिन विकास के नए आयाम को छू रही है। विकास के मामले में भारत देश भी दुनिया के अन्य देशों के साथ भारत भी कदम-ताल करते हुए आगे बढ़ रहा है। हालांकि इसके बाद भी पौराणिक प्रथाओं और अंधविश्वास के लिए मशूर भारत देश में जब-कभी ऐसे मामले आ ही जाते हैं, जो भारत में विकास की बात पर सावालिया निशान खड़े करते हैं।

हालांकि यह मामला थोड़ पुराना है, लेकिन इससे आप काफी कुछ सीख सकते हैं। क्योंकि इस मामले में अंधविश्वास के कारण एक महिला की जान चली गई। लेकिन अगर अंधविश्वास के परे इस महिला का समय पर इलाज कराया जाता तो शायद इनकी जान बच सकती थी। हैरानी की बात तो ये है कि एक व्यक्ति के नादानी भरे हरकतों को पूरा समाज आंखे फांड़ कर देखता रहा, लेकिन किसी ने उसे ऐसा करने से मना नहीं किया।

भारत के इस राज्य में हर दिन मर रहे हैं 61 बच्चें, जाने क्या है कराण

दरअसल, यह पूरा मामला उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर का बताया जाता है, जहां एक महिला को जहरीले सांप ने काटा लिया। जिसके बाद वह महिला दौड़ती-भागती अपने पति के पास आई और इस पूरी घटना की जानकारी दी। पत्नी को सांप काटने की बात सुनते ही पति हैरान तो हुआ लेकिन उसने इसके लिए किसी हॉक्टर या अस्पताल की मदद नहीं ली, बल्कि अंधविश्वास के चपेट में आ गया।

बताया जाता है कि सांप काटने के बाद पति ने अपनी पत्नी को गोबर से ढंक दिया, ऐसा करने पीछे उसकी मंशा थी की गोबर के नीचे पत्नी को दबाने से सांप के जहर का असर खत्म हो जाएगा, लेकिन असल में हुआ ठीक इससे उलट। दरअसल, गोबर ने नीचे अपनी पत्नी को दबा कर पति उसके ठीक होने का इंतजार करने लगा। कुछ देर बाद जब उसने पत्नी को गोबर से निकाला तब वह मर चुकी थी।

गांधी परिवार पर बरसते हुए मोदी ने लगाया 'लोकतंत्र अमर रहे' का नारा

बताया जाता है कि इस दौरान वहां काफी संख्या में लोग भी खड़े थे, जो इसे तमाशा समझ कर देखते रहे। वहीं इस भीड़ में पति-पत्नी के अलावा एक सपेरा भी था जो कुछ मंत्र पढ़ रहा था, लेकिन उसका मंत्र बेअसर साबित हुआ और इसके कारण एक महिला की जान समय से पहले ही चलेगी। लिहाजा यह जरूरी है कि आगे से फिर कोई ऐसी घटना न घटे, इस लिए ऐसी परिस्थिती में अंधविश्वास के चक्कर में न पड़े और मरीज को समय पर इलाज कराएं।

महिलाओं को अपनी जाल में ऐसे फंसाता था मेजर हांडा, शैलजा के अलाव भी कई महिलाओं से संबंध!

loading...