Breaking News
  • जम्मू-कश्मी: सोपोर में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़, कई इलाकों में मोबाइल और इंटरनेट सेवा बंद
  • सपा-बसपा सरकारों के पास गरीबी को हटाने के लिए कोई एजेंडा नहीं था: सीएम योगी
  • सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल पूरे होने पर देश मनाएगा पराक्रम पर्व
  • आज सुबह 9:17 बजे असम की बारपेटा में 4.7 तीव्रता से भूकंप के झटके

बिप्लब ने बांग्लादेश से व्यापार को लेकर लिया बड़ा फैसला!

अगरतला: त्रपुरा और बांग्लादेश की सीमा लगी हुई है। जिसके चलते दोनों देशों में आधिकारिक व्यापार के साथ साथ गैर कानूनी ढंग भी निर्यात किया जाता है। ऐसे में त्रिपुरा की बिप्लब देब कुमार सरकार ने बांग्लादेश से व्यापार के लिए नई रणनीति बना रहे हैं।

बतादें कि त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब ने बांग्लादेश से मांग की है कि वे अपने आयात नियमों को बेहतर और लचीला बनाए। जिससे दोनों देशों के बीच सुगमता से व्यापार संभव हो सके। साथ ही त्रिपुरा और बांग्लादेश  की सीमा लगी होने के कारण अवैध व्यापार भी दोंबों के लिए मुसीबत बना हुआ है। जिससे दोनों देशों के राजस्व को चुना लग रहा है। वहीँ आयात नियम कठोर होने के कारण यहाँ अविअध और गैर कानून धानाग से बड़ी मात्रा में व्यापार फल फूल रहा है।

विश्व सबसे बड़ी मोबाइल फैक्ट्री का शुभारंभ, मेट्रो से पहुंचे मोदी-मून जे

जिसको रोकना दोनों देशों के लिए चुनौती है। सीएम देब ने राज्य से बांग्लादेश में जाने वाली 17 वस्तुओं की लिस्ट तैयार की है, जिसे बांग्लादेश की अखौरा सीमा से निर्यात किया जायेगा। उन्होंने यह अभी यह सब गैर कानूनी ढंग से भारत में एंट्री लेंती हैं। जिससे दोनों देशों के राजस्व को नुकसान हो रहा है। लेकिन अब प्लान के अनुसार सीएम बिप्लब कुमार देब उन्ही वस्तुयों के लिए व्यपार के ने आयाम खोलना चाहते हैं जिससे भारत और बांग्लादेश के बीच गैर कानूनी ढंग से होने वाला व्यापार रुक जाये।

त्रिपुरा सरकार द्वारा बांग्लादेश को निर्यात की जाने वाली 17 वस्तुओं में चाय, काजू, अनानास, जैकफ्रूट, अदरक और काली मिर्च अज्सिई कई वस्तुएं शामिल हैं। हालाँकि अभी इस वारे में केंद्र सरकार को उन्हें अवगत करना है। कहा जा रहा है कि  शिलांग में आयोजित होने वाली नार्थ इस्टर्न काउंसिल की बैठक में यह मांग उठाई जाएगी। जहाँ गृहमंत्री राजनाथ सिंह के साथ-साथ कई अन्य केंद्रीय मंत्री भी मौजूद होंगे।

यह भी देखें-

loading...