Breaking News
  • राजस्थान: अमित शाह का ऐलान, वसुंधरा राजे होंगी सीएम उम्मीदवार
  • GST काउंसिल ने घटाई दरें, 100 से ज्यादा सामान होंगे सस्ते, सैनिट्री नैपकिन अब टैक्स फ्री
  • दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में 3 आतंकी ढेर, मुठभेड़ की जगह से हाथियार बरामद

फिर सामने आया कथित समाज सुधारकों का खौफनाक चेहरा

दिसपुर: समाज में कथित समाज सुधारकों द्वारा जो आतंक फैला रखा गया है, उसे न ही सरकार रोक पा रही है और न ही उसका सड़ा-गला सिस्टम। जिसके कारण हमारी-आपकी आँखों के सामने ही यह कभी मोब लीचिंग के नाम पर हत्या कर  दी जाती है तो कभी महिलाओं के साथ बर्बर व्यवहार किया जाता है।

बतादें कि पूर्वोत्तर राज्य से लगातार मोब लीचिंग या कहे कि मोरल पुलिसिंग का मामला सामने आया है। मीडिया में जारी खबरों की माने तो गोआलपारा जिले के पुखुरपुर गांव में भीड़ ने एक अविवाहित जोड़े को उनकी बाइक से उतार पर पहले तो पिटाई की, फिर उन्हें शादी करने के लिए मजबूर किया। पूरा मामला 2 दिन पहले यानी कि 19 जून का बताया जा रहा है। जब असम के गोआलपारा जिले के पुखुरपुर गांव से एक अविवाहित जोड़ा अपनी बाइक से निकल रहा था।

ट्रेन के सामने खड़ा होकर चिल्लाने लगा मेर पास बम है...!

उसी दौरान कुछ समाज के कथित ठेकेदारों ने उन्हें पकड़ लिया और जमकर पिटाई की। इतना ही नहीं बिना यह जाने कि वह रिश्ते में कौन और क्या हैं। उन्हें शादी करने के लिए मजबूर किया गया। वहीँ पूरे मामले का विडियो दो दिन से सोशल मीडिया पर तैर रहा है। जिसके बाद अब जाकर राज्य की 'भांग के नशे' में डूबी पुलिस ने कार्रवाई करने की बात कही है। राज्य के पुलिस महानिदेशक कुलधर सैकिया ने कहा कि, 'इसको लेकर अभी तक किसी ने शिकायत नहीं दर्ज करवाई है।

केंद्रीय मंत्री ने आतंकी हाफिज को कहा 'जी', बीजेपी से लड़ेगा पाकिस्तान में चुनाव?

इसलिए देर लगी। वहीँ रंगजुली पुलिस ने खुद एक मामला दर्ज किया है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। दो लोगों को गिरफ्तार किये जाने का दावा भी किया जा रहा है। इससे पहले जून में ही असम के कर्बी आंगलांग जिले में भीड़ ने एक म्यूजिशिययन नीलोत्पल दास और उनके मित्र अभिजित नाथ की पीट पीट कर्ट हत्या कर दी थी। दोनों पिकनिक मनाने गये थे। और भीड़ ने उन्हें बच्चा चोर समझकर पीट पीटकर मार डाला।

यह भी देखें-

loading...