Breaking News
  • राजकीय सम्मान के साथ मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार
  • प्रयागराज से वाराणसी तक बोट यात्रा कर रही हैं प्रियंका गांधी
  • बोट यात्रा से पहले प्रियंका ने किया गंगा पूजन, देश का उत्थान और शांति मांगी
  • होली के पावन पर्व पर पीएम मोदी और राष्ट्रपति कोविंद ने सभी देशवासियों को दी शुभकामनाएं
  • भारत पर कोई और आतंकी हमला हुआ तो फिर इस्लामाबाद के लिए हो जाएगी ‘बहुत मुश्किल’
  • भाजपा के वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र इस बार नहीं लड़ेंगे लोकसभा चुनाव
  • जम्मू के सोपोर इलाके में सुरक्षाकर्मियों और आंतकियों के बीच मुठभेड़

म्यांमार की दादागिरी: भारतीय सीमा के तीन किमी अंदर लगा दिया अपना पिलर...

इंफाल: पाकिस्तान और चीन के बाद अब भारत का म्यांमार के साथ भी सीमा विवाद शुरू हो गया है। पूर्वोत्तर भारत में पडोसी देश म्यांमार ने भारत की सीमा के करीब तीन किलोमीटर अंदर अपना पिलर लगाया है।

बतादें कि मीडिया की एक रिपोर्ट्स के अनुसार बताया जा रहा है कि भारत के पडोसी देश म्यांमार ने मणिपुर के टेंग्नौपाल जिले के क्वाथा में एक पिलर लगाया है। जिसको लेकर लगातार विवाद छिड़ा हुआ है। स्थानीय लोगों के अनुसार जिस क्षेत्र में म्यांमार में पिलर लगाया गया है वह भारत म्यांमार की सीमा से तीन किलोमीटर अंदर है। मतलब वह पिलत भारत की जमीन पर लगा है। ऐसे में स्थानीय लोगों ने इसका विरोध शुरू किया और सीमा विवाद का मामला तूल पकड़ा तो राज्य की एन वीरेंद्र सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं। वहीँ विरोध कर रहे लोगों का यह कहना है कि मामला सामने आने के बाद राज्य सरकार ने इस पर कोई आपत्ति नहीं जताई।

हाईकमान पर भड़के वीरभद्र, कहा इन लोगों ने किया पार्टी का बंटाधार

जिससे लोग गुस्से में हैं। विवादित पिलर पर गुरुवार को कांगलीप कांबा लुप, पीपल्स सर्जेंस और जस्टिस अलायंस के प्रतिनिधियों ने अपना विरोध जताया। वहीँ म्यांमार द्वारा लगाया गये इस पिलर की सुरक्षा के लिए असम राइफल्स और पुलिसकर्मी तैनात किये गये हैं। जिसके बाद मामला गरमा गया है कि आखिर इसपर सरकार कोई एक्शन क्यों नहीं ले रही।

किसानों के लिए एक और बुरी खबर: इस बार नहीं होगी...

वहीँ अब मामला तूल पकड़ने के बाद सरकार ने जांच के लिए एक समिति बनायीं है जोकि सीमा पर जाकर इनका मुआयना करेगी। पूरा मामला सीमा विवाद से जुड़ा बताया जा रहा है, लेकिन अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है कि भारतीय क्षेत्र में लगे म्यांमार के पिलर की असम राइफल्स के जवान सुरक्षा के लिए क्यों कर रहे हैं?

यह भी देखें-

loading...