Breaking News
  • कोलकाता में ममता की महारैली में जुटा मोदी विरोधी मोर्चा, केजरीवाल, अखिलेश समेत 20 दिग्गज नेता
  • योगी सरकार के आने के बाद से संगठित अपराधों पर रोक लगी है: राम नाइक
  • अगर मुझे गाजीपुर से टिकट न मिला तो नहीं लड़ूंगा चुनाव- मनोज सिन्हा
  • अयोध्या में राम मंदिर नहीं तो हिंदुओं का वोट नहीं- प्रवीण तोगड़िया
  • पेट्रोल 17 और डीजल 19 पैसे हुआ महंगा

तो सरकार ने NRC से काट दिए अपने ही लोगों के नाम?

गुवाहाटी: असम में सोमवार को लागू किये गये राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) ड्राफ्ट को लेकर एकबार फिर से बड़ा असवाल खड़ा हो गया है। कांग्रेस प्रमुख राहुल गाँधी ने पूरी परक्रिया पर सवाल उठाते हुये कहा है कि यहाँ अपने ही लोगों के नाम को NRC से हटा दिया गया है। जिससे राज्य में माहौल खराब होने लगा है।

बतादें कि असम में सोमवार को ही असली भारतीय और घुसपैठियों की पहचान के लिए लम्बे समय से प्रक्रिया में चले आ रहे राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) ड्राफ्ट को लागू किया था, जिसके बाद करीब 40 लाख लोग अवैध करार हो गये थे। वहीँ अब इस मुद्दे पर कांग्रेस प्रमुख राहुल गाँधी ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और राज्य की बीजेपी सरकार पर बड़ा सवाल खड़ा किया है। उन्होंने कहा कि राज्य भर से ऐसी खबरें आ रहीं है कि जो सच में भारतीय हैं उनका नाम भी इस राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के मसौदे से काट दिया गया है, ऐसे में राज्य में असुरक्षा और तनाव का माहौल बन रहा है।

आरआईएल ने छीना टीसीएस से ताज: बनी देश की सबसे बड़ी कंपनी!

वैसे भी पिछले कई दशकों से इस मुद्दे को लेकर राज्य में तनाव ही नहीं हिंसा भी होती रही है। राज्य के वासिंदे इन घुसपैठिया बंगलादेशी लोगों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए इन्हें बाहर निकालने के लिए जूझती रही हैं। वहीँ अब राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) मसौदे को लेकर भी विवाद खड़ा हो गया है।

भगोड़े माल्या पर कोर्ट में चल रही अंतिम सुनवाई: जानिए अब तक की रिपोर्ट

वहीँ NRC यानी की राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर ड्राफ्ट को लागू किये जाने के मुद्दे पर बोलते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आगे कहा कि राज्य में विषम परिस्थियाँ बने उससे पहले ही केंद्र और राज्य सरकार को इस संकट के समाधान के लिए तत्काल कदम उठाने चाहिए। साथ ही उन्होंने सभी कांग्रेस सदस्यों से कहा कि वे राज्य में शांति बनाए रखने में मदद करें और NRC  में जिन लोगों के साथ नाइंसाफी हुई है उनकी मदद के लिए आगे आयें।

यह भी देखें-

loading...