Breaking News
  • राजस्थान: अमित शाह का ऐलान, वसुंधरा राजे होंगी सीएम उम्मीदवार
  • GST काउंसिल ने घटाई दरें, 100 से ज्यादा सामान होंगे सस्ते, सैनिट्री नैपकिन अब टैक्स फ्री
  • दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में 3 आतंकी ढेर, मुठभेड़ की जगह से हाथियार बरामद

ऐसा भी कोई करता है: यह खबर पढ़ने के बाद ट्रैफिक पुलिस से उठ जाएगा भरोसा...

गुवाहाटी: भारत में अपराध होना कोई बड़ी बात नहीं है। आये दिन लूट-पाट हत्या जैसी घटनाएं घटी रहतीं हैं। लेकिन इन असम में एक साधारण ही हुई 17 लाख की लूटपाट की घटना ने लोगों के अंदर ऐसा डर बैठाया है कि अब पुलिस और कानून को देखकर आम लोग भी भयभीय होने लगे हैं।

दरअसल मामले पर पहुंचे उससे पहले यह जानना जरुरी है कि आम नागरिक की सुरक्षा का जिम्मा प्रशासन पर होता है जोकि सड़क से लेकर घर तक आम नागरिकों को सुरक्षा मुहैया करवाता हैं! लेकिन सोचिये जरा कि राह चलते यह पुलिस प्रशासन ही आपको कट्टा (बन्दूक) दिखाकर लूटने लगे तो आप किसके भरोसे रहेंगे? दरअसल असम में एक ऐसी वारदात घटी जिसे जानकार लोग सिर्फ परेशान ही नहीं हैं बल्कि डरे और सहमे हुए भी हैं। उनका प्रशासन की सुरक्षा के साथ साथ खाकी और सफ़ेद वर्दी से भी भरोसा उठ चुका है।

हिमाचल: फिर सक्रिय हुआ मानसून, ला सकता है भारी तबाही!

यहाँ पिछले 25 जून को एक आम लूट की वारदात हुई थी। जिसमें एक गाय व्यापारी को बंदूक दिखाकर 17 लाख लूट लिए गये थे। लेकिन लूट की इस घटना को अंजाम देने का जिला प्रशासन का ही एक कर्मी था। 25 जून को घटी इस घटना के बाद 6 जुलाई को जैसे-तैसे रिपोर्ट दर्ज करवाई गयी और मामला पुलिस के पास पहुंचा। पहले तो आम लूटपाट का केस लगा और ठंडे बस्ते में डाल दिया गया, लेकिन जब पीडित ने इसबारे में ऐसा आरोप लगाया कि पूरे जिला प्रशासन की चूलें हिल गयी। जिसके बाद जांच का दौर चला और पुलिस को पूरे लूटकांड को अंजाम देने वाले का पता चल गया है।

प्रणब दा के बाद आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल होगा यह दिग्गज

इस लूटकाण्ड के मुख्य सरगना निकुंज कृष्णा भूईयां को गिरफ्तार किया है। जोकि असम ट्रैफिक पुलिस का कांस्टेबल है। इतना ही नहीं पुलिस ने इसके पास से लूट की कुछ रकम भी बरामद की है। पुलिस की जांच में पता चला है कि ट्रैफिक कांस्टेबल निकुंज कृष्णा भूईयां ने ही अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर 25 जून की शाम 7:25 बजे जोराबाट के गरुफार्म के व्यापारी अब्दुल मालेक को पिस्तौल दिखाकर 17 लाख रुपए लूट लिए और फरार हो गया। इस मामले में पुलिस को निकुंज कृष्णा भूईयां के साथियों का भी पता चल गया है। जिनकी भी गिरफ्तारी के लिए टीम लगा दी गयी हैं। इस घटना के बाद ट्रैफिक पुलिस विभाग बहुत ही शर्मिदा है। किसी अधिकारी ने मीडिया के सामने बोलने की हिम्मत नहीं दिखाई। वहीँ जनता भी ट्रैफिक पुलिस पर अजीब अजीब फब्तियां कस रही है।

यह भी देखें-

loading...