Breaking News
  • आईसीसी महिला विश्व टी-20 चैम्पियनशिप के अंतिम ग्रुप मुकाबले में भारत का सामना ऑस्ट्रेलिया से
  • जममू-कश्मीर: पंचायत चुनाव के पहले चरण के लिए वोटिंग, जम्मू-21, घाटी-16 और लद्दाख के 10 ब्लॉको में वोटिंग
  • प्रधानमंत्री मोदी का मालदीव दौरा, नवनिर्वाचित राष्ट्रपति सोलिह के शपथ ग्रहण समारोह

'आवश्यकता है रिसॉर्ट के नीचे सुरंग खोदने वालों की'

कर्नाटक विधानसभा चुनाव की चर्चा देश में पिछले काफी समय से चल रही है, हालांकि चुनाव को लिए वोटिंग खत्म होने के बाद अब चुनाव के नतीजे भी आ चुके हैं, लेकिन कर्नाटक चुनाव की चर्चा अब भी जारी है।

इस चर्चा की एक बड़ी वजह है कर्नाटक की जनता द्वारा किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं दिया जाना, जिससे की वे राज्य में आसानी से नई सरकार का गठन कर सके, लिहाजा पिछले कई दिनों से दिल्ली और कर्नाटक की राजनीति में उठापठक का दौर जारी है।

अमित शाह ने दिया भयंकर बयान, माना कर्नाटक में विधायकों को बंधक बनाया...

एक राजनीतिक बीजेपी, कांग्रेस+जेडीएस एक दूसरे पर लोकतंत्र की हत्या का आरोप लगा रहे हैं, वहीं देश की जनता यहां भी मजे लेने से बाज नहीं आ रही। दरअसल पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी बहुमत पेश करने वाली थी।

अभी-अभी: सैमसंग ने पेश किए दो शानदार मिड रेंज स्मार्टफोन, बाजार में मचाया तहलका

लेकिन इससे पहले कांग्रेस+जेडीएस को इस बात का डर सता रहा था कि कहीं बीजेपी उनके विधायकों के खरीद न ले, लिहाजा कांग्रेस+जेडीएस अपने विधायकों को बस में बंद कर यहां से वहां घुमाती रही तो कभी किसी रिसॉर्ट में ले जाकर सभी लोगों को एक साथ रखा।

आपको बता दें कि इस बात की चर्चा पूरे देश में आग की तरह फैल रही थी, और लोग सोशल मीडिया पर अपने तरह-तरह के विचार पोस्ट कर रहे थे, उन्हीं लोगों में एक यूजर ने लिखा कि 'आवश्यकता है रिसॉर्ट के नीचे सुरंग खोदने वालों की'।

बस फिर क्या देखते ही देखते इस तरह के कई ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल होने लगे, इस माहौल को देख ऐसा लगा जैसे सोशल मीडिया वालों के लिए ये किसी त्योहार से कम नहीं रहा!

‘कर’नाटक में नया नाटक,कांग्रेस ने दिखाया अपना असली रूप अब दिल्ली में होगा फैसला!

loading...