Breaking News
  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट में आज चार नए जजों को दिलाई शपथ
  • ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम की सफलता पर भड़का पाकिस्तान
  • आर्मी चीफ बिपिन रावत का बयान, पाकिस्तान ने बालाकोट में आतंकी कैंपों को फिर से सक्रिय कर दिया है
  • गृह मंत्री ने कहा कि कहा कि 2021 की जनगणना में मोबाइल एप का प्रयोग होगा

सांप्रदायिक बयानबाजी से बाज नहीं आ रहें नेता, क्या हैं वज़ह

नोएडा : भारत में बढ़ती आबादी देश के लिए चिंता का कारण बनती जा रही है । बिडंम्बना यह है कि राजनीतिक पार्टियाँ इस जघन्य मुद्दे पर भी अपनी सियासी रोटी सेंकने से बाज नही आ रही है । आपको बता दें देश में यह अभिशाप की तरह धीरे-धीरे पूरे देश को अपने आवेश में जकड़ता चला जा रहा है । आपके सामने पेश करते है आंकड़े को जिससे आप स्वयं ही समझ सकेगे कि यह देश के लिए कितना भयावह है । हम बात करते है आजादी के पहले की यानि साल 1951 की उस समय भारत की आबादी महज 36 करोड़ थी । लेकिन हम आजादी के 50 साल बाद सन 2001 को देखे तो भारत की आबादी बढ़ कर 102 करोड़ हो गयी ।

10 साल बाद फिर जब जागणना हुआ तो भारत की आबादी 19 करोड़ बढ़ कर 121 करोड़ हो गयी अब 0.01 % की बढ़ोत्तरी हुयी । अब हालात यह हो गये कि 2019 की अनुमानित आबादी 137 करोड़ होने जा रही है । जनसंख्या नियंत्रण विशेषज्ञ अनुमान लगा रहे हैं कि यदि यही हाल रहा तो 2027 में भारत की आबादी चीन से भी ज्यादा हो जायेगी । आंकड़े कुछ भी कहते हो लेकिन यह सत्य है कि भारत के कुछ जिम्मेदार राजनेता इस मुद्दे पर भी संम्प्रदायिक बयानबाजी से बाज नही आ रहे है ।

वर्तमान समय की बात करे तो भारत में 80 % हिन्दु आबादी है, मुश्लिम आबादी 14 % , ईसाई  तथा सिख  आबादी 2% और बौद्ध आबादी 1% है । यदि हम 10 साल पहले नजर डाले तो इनमें जो वृद्धि हुयी है वो चौका देने वाली है । 2001-2011 के बीच पूरे भारत की आबादी में 18 % की बढ़ोत्तरी हुयी । इसको यदि हम समुदायो में विभक्त कर के देखें तो हिन्दुओ की आबादी 17 % बढ़ी , वहीं मुसलमानो की आबादी में 25 % की बढ़ोत्तरी हुई, यह आंकड़े चौका देने वाले है । हिन्दुओं की आबादी से मुसलमानों की आबादी में 8 फीसदी ज्यादा वृद्धि हुयी है । इसी औसत से यदि जनसंख्या में वृद्धि होती रही तो सन 2050 में भारत में मुश्लिमों की आबादी सर्वाधिक हो जायेगी । प्यू रिसर्च के मुताबिक 2050 में भारत की आबादी में मुसलमान 18 फीसदी हो जायेंगे । इतना ही नही सभी धर्मो में मुसलमानों का आबादी सबसे तेजी के साथ बढ़ती जा रही है।

loading...