Breaking News
  • अयोध्या मामले में 2 अगस्त से खुली कोर्ट में सुनवाई, 31 जुलाई तक मध्यस्थता की प्रक्रिया
  • महाराष्ट्र में गोरखपुर अंत्योदय एक्सप्रेस पटरी से उतरी
  • अमरनाथ यात्रा पर आतंकी कर सकते हैं आतंकी हमला : सूत्र
  • कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार का शक्ति परीक्षण, 2 बसों में विधानसभा पहुंचे BJP विधायक

पीएम मोदी के संसद में दिये गये बयान पर ये क्या बोल गए ओवैसी, कहा ...कोई फर्क नहीं

नोएडा : लोकसभा में तीन तलाक के मुद्दे पर कल संसद में पीएम मोदी ने कहा था कि, ''35 साल बाद फिर शाह बानों के मामले में कांग्रेस को फिर अवसर मिला है, लेकिन ऊंचाई ने नीचे की चीजें देखने से मना कर दिया। आज 35 साल बाद एक बार फिर कांग्रेस के पास मौका आया है, हम बिल लेकर आए है, हम इस देश की नारी के गौरव के लिए बिल लेकर आए हैं। जब शाह बानों का मामला चल रहा था उस समय के एक मंत्री ने टीवी इंटरव्यू में एक चौंकाने वाली बात कही। उन्होंने कहा कि मुसलमानों के उत्थान की जिम्मेदारी कांग्रेस की नहीं है। अगर वो गटर में रहना चाहते हैं तो रहें।''

पीएम मोदी के इस बयान पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने आड़े हाथों लिया है। ओवैसी ने सवालियां लहजे में पीएम मोदी से पूछा कि, 'अगर मुसलमान गटर में हैं तो उन्हें आरक्षण क्यों नहीं देते?'

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘’पीएम मोदी को शाहबानो तो याद है। तबरेज अंसारी याद नहीं आया, उनको अखलाक याद नहीं आता, पहलू खान याद नहीं आता? अगर कोई हमें गटर में रहने देने की बात कर रहा है तो मोदी हमें आरक्षण क्यों नहीं देते? मुसलमानों को पिछड़े होने के तौर पर आरक्षण दीजिए।’’

जिसके बाद उन्होंने पीएम मोदी के लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत पर वार करते हुए कहा कि , ‘’300 सांसदों में से आपके पास एक मुस्लिम सांसद जीतकर नहीं आता। उनको पीछे कौन रख रहा है। मोदी रख रहे हैं। मोदी के बोलने में और करने में जमीन आसमान का फर्क है। नरसिम्हा राव बाबरी मस्जिद को गिरने से नहीं बचा पाए। अब एक और प्रधानमंत्री है हमारे सामने जो अपनी विचारधारा को बचाना चाहते हैं। देखते हैं आगे क्या होता है।’’

आपको बता दें कि इससे पहले भी ओवैसी पीएम मोदी एवं उनके सहयोगी दलों को हर मुद्दे पर घेरती रहीं है। लेकिन जहां रही बात तीन तलाक बील की, तो जिस बिल का समर्थन असुद्दीन ओवैसी को करना चाहिए, ओवैसी उस बिल का विरोध कर रहा है। मोदी जहां इस बिल को लाकर महिलाओं को सुरक्षित करना चाहते हैं, वहीं ओवैसी इस बिल का विरोध कर रहे है।

loading...