Breaking News
  • बैंक खातों को आधार से जोड़ना अनिवार्य: आरबीआई
  • कट्टरता के खिलाफ भारत मजबूत कार्रवाई कर रहा है: सेना प्रमुख बिपिन रावत
  • कुपवाड़ा में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़
  • विदेश मंत्री सुषमा स्वराज आज से बांग्लादेश के दो दिवसीय दौरे पर होंगी रवाना

गांध जयंती पर जाने बापू की ‘गंदी बात’, जो कभी किया ही नहीं...

नई दिल्ली: 2 अक्टूबर को हर साल राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती देशभर में त्योहार की तरह मनाया जाता है। आज के दिन सरकारी छुट्टी की लंबी परंपरा सी रही है। गांधी जी ने आजादी की लड़ाई में कितना योगदान दिया है, इस बात का आकन करना इतना आसान नहीं है, जितना लोग बोलचाल की भाषा में कर देते हैं।

दरअसल गांधी की भारत के लिए क्या है, इस बात का अंदाजा आप इसी बात से लगाइए कि लोगों के घरों में उनकी पूजा तक होती है, और ये सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया के अन्य कई देशों में भी होती है। जिसका ताजा नमूना आज 2 अक्टूबर 2017 को गांधी जी के 148 वीं जयंती पर भी देखते को मिला।

गांधी जयंती: यहां बसती है बापू की आत्मा- खर्च हुए करोड़ो रुपये

गांधी जयंती के अवसर पर हेग  में 'सत्याग्रह' नाम के ओपेरा के द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को दी गई श्रद्धांजलि, तो वहीं नीदरलैंड्स में  राष्ट्रपिता महात्मा गांधी द्वारा व्यक्तिगत रूप से प्रयोग की गई साइकिल का भी प्रदर्शन किया है। जबकि भारत के मौजूदा प्रधानमंत्री ने गांधी जयंती और उनके स्वक्षता के चाहत को मिशन के तहत चलाया इस दिन को स्वक्ष भारत अभियान से जोड़ दिया।

इतना सब कुछ होने के बाद भी ऐसा नहीं है कि गांधी के नाम के साथ किसी तरह का कोई विवाद नहीं है, ऐसे में आज आपको कुछ ऐसी बाते बताने जा रहे हैं, जिसे गांधी जी साथ साफ तौर पर जोड़ा जाता है, लेकिन ऐसा है नहीं क्योंकि इस संबंधस में आधिकारिक पुष्टि नहीं की जाती है।

SBI में खाता है तो जरूर जाने ये 4 बड़े बदलाव- एक अक्टूबर से लागू

दरअसल आज का युग सोशल मीडिया का दौर है, इस दौर में खबरे दिखती या चलती नहीं बल्कि वायरल होती है, यानी आज दुनिया ऐसे दौर से गुजरी रही है, जिसमें एक सावल के लिए अलग-अलग लोगों के पास अलग-अलग जवाब होते है, और इसी तरह से किसी मुद्दे को घसिट-घसिट कर एक नया मुद्दा बना दिया जाता है, जिसपर कभी कभी तो बवाल भी खडा होता रहता है। कुल मिलाकर ऐसा कह सकते हैं कि आज के दौर में असली और नकली का फर्क करना किसी जटील पहेली से कम नहीं है।

इसलिए आज गांधी जयंती के मौके पर कुछ ऐसी बातों के बारे में बता रहे हैं जो गांधीजी से जुड़ी हुई हैं लेकिन ये सच नहीं हैं।

दरअसल सोशल मीडिया पर ‘डांसिंग गांधी’ की चर्चा भी होती है, इस संबंध में एक तस्वीर को लेकर कहा गया कि ये तस्वीर गांधी जी की है, जिसमें वह एक लड़की के साथ डांस कर रहे हैं, जबकि असल में यह तस्वीर एक ऑस्ट्रेलियन एक्टर की है जो गांधी बन कर एक कार्यक्रम में पहुंचा था।

ऐसी एक और तस्वीर वायरल हुई है जिसमें, गांधी एक लड़की के करीब दिख रहे है, जबकि असल में यह फोटो नेहरु के साथ है और मॉर्फ्ड कर इसमें नेहरु की जगह लड़की को शामिल करने के बाद इस वायरल किया गया है।

गांधी के सबसे मशहूर कोट्स में एक है- 'आंख के बदले आंख की लड़ाई पूरी दुनिया को अंधा बना देगी' इस कोट्स को लेकर कई लोगों का मानना है कि इसे गांधी ने कहा था, जबकि ऐसा कहा जाता है बेन किंग्सले की फिल्म 'गांधी' का एक डायलॉग है, जिसे लोग गांधी के नाम से ही जानते हैं।

आपको बता दें कि बच्चों को ज्ञान देते हुए गांधी जी ने कहा कि था 'पढ़ाई ऐसे करनी चाहिए जैसे कि कल जिंदगी का आखिरी दिन है', जबकि लोगों इस बात को इस तरह से कहते हैं 'ऐसे जीयो जैसे कल मरना है' और इसे भी गांधी जी से जोड़ देते हैं।

इसे भी देखें...

loading...